Wed. Nov 21st, 2018

राष्ट्रीयसभा सदस्यों की पदावधी में राजनीतिक दलों के बीच विवाद

काठमांडू, १ मई । राष्ट्रीयसभा सदस्यों की पदावधी किस तरह निर्धारण किया जाए ? इसके संबंध में संसद में प्रतिनिधित्व करनेवाले राजनीतिक दलों के बीच विवाद दिखाई दिया है । राष्ट्रीयसभा में कुल ५९ सदस्य हैं । संविधान अनुसार उसमें से एक तिहाई सदस्यों की पदावदी २ वर्ष, दूसरे एक तहाई सदस्यों की पदावधी ४ वर्ष और बांकी सदस्यों की पदावधी ६ वर्ष होती है । इसके लिए गोलाप्रथा किया जाता है । लेकिन किस तरह गोला प्रथा किया जाए, इसमें राजनीतिक दलों के बीच विवाद दिखाई दिया है ।
आज प्रकाशित नयां पत्रिका दैनिक के अनुसार नेकपा एमाले और नेकपा माओवादी का कहना है कि प्रदेश की समावेशिता के आधार में गोलाप्रथा करनी चाहिए । लेकिन इसमें प्रमुख प्रतिपक्षी नेपाली कांग्रेस, तथा संघीय समाजवादी फोरम और राष्ट्रीय जनता पार्टी सहमत नहीं है । असहमत पार्टियों का कहना है कि कूल ५९ गोला बनाकर एक ही टोकरी में रखना चाहिए और उसमें से सदस्यों की पदावधी निर्धारण करना चाहिए ।
सदस्यों कि समयावधि निर्धारण के लिए नियमावली मस्यौदा समिति गठन किया गया है । राष्ट्रीयसभा नियमावली मस्यौदा समिति में नेकपा एमाले से ३, माओवादी से २, कांग्रेस से २, राजपा और फोरम नेपाल से १–१ सदस्य हैं । सत्ता पक्ष का कहना है कि अगर सहमती नहीं होगी तो बहुमत के आधार में नियमावली पास किया जाएगा ।

आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.

Leave a Reply

avatar
  Subscribe  
Notify of