Wed. Nov 21st, 2018

लाहान मेयर काे नसीहत, पार्टी नही जनता का सेवक बनें – शत्रुधन मन्डल

१७ फागुन, सिरहा । कुछ दिन पहले अवैधानिक रुप से लाहान नगरपालिका का मेयर मुनी साह द्वारा हस्तक्षेप किया गया श्री ज.मा. वि सोनमती गाढा काे अदालत ने क्लिन चिट दे दी है । विधालय को अपने काम बिना कोई रुकाबट करनेके लिए आदालत ने स्टे-आर्डर जारी की है । मेयर ने अपने अधिकार का गलत ईस्तमाल करके लाहान न पा २३ मे अवस्थित श्री ज. मा. वि साेनमती गाढा विधालयमे हुवे शिक्षक भर्ना सम्बन्धि विज्ञापन को रोकनेका प्रयास किया था । शिक्षा क्षेत्र मे हुवे उनके पहले कदम को ही हस्तक्षेप के रुप मे बहुत  आलोचना हुई थी । लाहान नगरपालिका – २३ (साविक के सोनमती, गाढा) मे रहे जनता मा. वि ने स्थानीय चुनाव से पहले प्रा. वि तह के लिए ५ शिक्षक भर्ना सम्बन्ध मे बिज्ञापन किया था । चुनाब के वाद जब चयन प्रक्रिया को आगे बढाया गया तब उसमे छिड गयी गन्दी राजनीति । लाहान के मेयर मुनि साह द्वारा एक चिठी भेजी गई जिसमे लिखा था ” जनता प्रा. वि के लिए हो रहे शिक्षक भर्ना प्रक्रिया को तुरन्त रोका जाए , और व्यवस्था ना होनेतक भर्ना सम्बन्धि कोई प्रक्रिया को आगे ना बढाया जाए ” उक्त स्कुल के समिति अध्यक्ष शत्रुधन मण्ड्ल ने मेयर साह का ईस कदम को हास्यास्पद बताते आए है । मेयर साह की चिट्ठी को वेवास्ता करते हुवे जनता मा.वि ने विज्ञापन निकाला था । मेयर साह ने जब रोकने के लिए दबाब दिया तब स्कुल अध्यक्ष मन्डल ने आदालत को न्याय के लिए गुहार लगाया था । अदालत ने आखिरकार न्याय के पक्षमे फैसला दे ही दिया । अध्यक्ष मन्डल अदालत के ईस फैसलेको मेयर के मुह पर तमाचे के रुप मे ले रहे है । उनका कहना है कि निश्चित रुपमे मेयर साहेब को अब ये जानना है कि वे सिर्फ पार्टी के नही बल्कि सम्पुर्ण लाहान नगरबासी के मेयर है । अध्यक्ष मन्ड्ल ये बिश्वास रखते है कि ऐसी गलती मेयर साहेब दोबारा नही करेङ्गे ।

आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.

Leave a Reply

avatar
  Subscribe  
Notify of