Sat. Nov 17th, 2018

विपद् की पूर्व तैयारी करते वक्त प्राथमिक उपचार की आवश्यकताए“


नेपालगंज, बाके जिला के नेपालगन्ज में प्राथमिक उपचार की अद्यावधिक सीप समुदाय तक पहुचाने के लिये अभिप्राय से ५ दिनों की प्रशिक्षक प्रशिक्षण पुनर्ताजगी तालीम नेपालगन्ज में सम्पन्न हुआ है ।
नेपाल रेडक्रस सोसाइटी प्राथमिक उपचार महाशाखा की आयोजन में हुआ वह तालीम में २२ जिला की सहभागिता रही थी ।
तालीम की समापन कार्यक्रम में नेपाल रेडक्रस सोसाइटीे बा“के शाखा के सभापति गोवर्धन सिंह सम्झना ने घायल और मरीज की अवस्था में सुधार लाने के लिये हरेक स्थानीय तह की समुदाय स्तर में प्राथमिक उपचार होना आवश्यक रही है बताते हुये स्थानीय तह ने विपद् की पूर्वतयारी करते वक्त ऐसी सीप युक्त स्वयंसेवक उत्पादन करना एकदम जरुरी रही है बातों पर जोड दिये थे ।
नेपाल रेडक्रस सोसाइटीे प्राथमिक उपचार महाशाखा के प्रमुख कृष्ण घिमिरे ने रेडक्रसद्वारा उत्पादन हुआ पाठ्यक्रम डाक्टर से लेकर समुदाय तक के व्यक्तियों को आवश्यक होने की नाते सरकारी तथा गैरसरकारी निकाय की सहकार्य में और रेडक्रस की प्राविधिक सहयोग में प्राथमिक उपचार तालीम संचालन होते आयी है कात बताया ।
तालीम में आधारभूत सिद्धान्तें, आपत्कालिन अवस्था, वेहोसी, रक्तश्राव, विष, दिल और फेफडा पुनःसचालन प्रक्रिया, कीडा तथा जनावरों की काट्ना लु लागना, शरीर की विभिन्न भागों में पट्टी की प्रयोग लगायत विषय की सैद्धान्तिक और प्रयोगत्माक विधों से सिखाया गया था ।
नेपाल रेडक्रस सोसाइटी बा“के शाखा के सभापति गोवर्धन सिंह सम्झना की अध्यक्षता में सम्पन्न कार्यक्रम में सहभागियों की ओर से नेपाल रेडक्रस सोसाइटी डोटी जिला शाखा के मन्त्री देवबहादुर बस्नेत ने तालीम सन्र्दभीक रही थी बातों पर उल्लेख किया था । तालीम की अनुगमकर्ता में विभाग के प्रमुख कृष्ण घिमिर, कोर्षकोडिनेटर राजु रावत और सहजकर्ताओं में दिपेश कुमार कार्की, निरन्जन सेढाई, पावित्रा बस्नेत और तुम्बराज लिम्बु रहे थे नेपाल रेडक्रस सोसाइटी बा“के शाखा के प्रहलाद बिश्वकर्मा ने जानकारी दी ।

आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.

Leave a Reply

avatar
  Subscribe  
Notify of