Thu. Nov 15th, 2018

विप्रेषण से पुँजीगत आधार बनाने के लिए सार्थक पहल आवश्यक : प्रधानमन्त्री

काठमांडू, भाद्र २१ |

प्रधानमन्त्री पुष्पकमल दाहाल ने देश में आयात हो रहें विप्रेषण से पुंजीगत आधार बनाने के लिए सचेत व सार्थक पहल करना चाहिये बताया है ।

nepal aarthik sangh

नेपाल आर्थिक संघ की रजतजयन्ती का आज उदघाटन करते हुए प्रधानमन्त्री दाहाल ने वर्तमान में विप्रेषण का दिगो उत्पादनशील क्षेत्र में लगानी का अवसर श्रृजना करने की बात की । विप्रेषण को उत्पादनशील क्षेत्र में लगाने में देर हो चुकि है कहते हुए उन्होंने विप्रेषण देश का अर्थतन्त्र सम्हालने के बाद भी विदेश में नेपाली श्रम का माग घटता जा रहा है जिस से विप्रेषण का वृद्धिदर भी घटता जा रहा है कहते हुए कहा इसी लिए विप्रेषण को विदेशी मुद्रा आर्जन के महत्वपूर्ण स्रोत के रुप में रहने की बात शंकास्पद है बताया ।

प्रधानमन्त्री दाहाल ने पुँजी निर्माण के लिए युवा का श्रम शिप तथा जोश देश के नवनिर्माण में कैसे लगाया जा सकता है इस तरफ अर्थशास्त्री का ध्यान जाना चाहिये बताया । उन्होंने आर्थिक विकास के लिए निर्यात विगत से ही बहुत कमजोर होने की वजह से निर्यात से आयात को धानने का क्षमता नही है बताते हुए व्यापार घाटा सात खर्ब से अधिक हूआ है कहा । उन्हों ने कहा फिर भी विप्रेषण की वजह से चालु खाता में महज बचत ही रहा ।

कार्यक्रम में संघ के अध्यक्ष प्रा. डा. विश्वम्भर प्याकुरेल लगायत की उपस्थिति थी ।

आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.

Leave a Reply

avatar
  Subscribe  
Notify of