Fri. Sep 21st, 2018

व्यापारी और कर्मचारी इस तरह लुटते हैं देश को

काठमांडू, ३ मार्च । भन्सार के कर्मचारी और व्यापारी मिलकर किस तरह देश को लुटते हैं, इसके बारे में आज प्रकाशित नागरिक दैनिक में समाचार है । समाचार स्रोत के अनुसार कर्मचारी और व्यापारियों के मिलिभगत में दैनिक करोडों रुपये का राजश्व राज्य को प्राप्त नहीं होता है । चार दिन पहले अर्थमन्त्री में नियुक्त डा. युवराज अतिवडा ने विभिन्न भन्सार कार्यालय के प्रमुख को काठमांडू में बुलाकर राजश्व अनियमितता नियन्त्रण के लिए निर्देशन जारी किया, उसके अगले हि दिन शुक्रबार ३५ करोड ज्यादा राजश्व प्राप्त हुआ ।
समान्यतः हर दिन देश भर स्थित भन्सार कार्यालयाेंं से औषत ८५ करोड राजश्व प्राप्त होता था । अर्थमन्त्री के निर्देशन बाद १ अरब २० करोड से ज्यादा राजश्व वसूल हो गया । इसी तथ्यांक को आधार मानते हैं तो व्यापारी और कर्मचारी मिलकर दैनिक ३० से ३५ करोड तक राजश्व अपनी पकेट में बना लेते हैं । जो एक साल में १ खरब २२ अरब हो जाता है ।

आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.

Leave a Reply

avatar
  Subscribe  
Notify of