Wed. Feb 20th, 2019

शहीद रघुनाथ ठाकुर “मधेशी” के ३७ वी पुण्यतिथि (बरसी) पर भावपूर्ण श्रद्धांजलि : रमेश

radheshyam-money-transfer
स्व.रघुनाथ ठाकुर

ई. आर.पी.सिंह रमेश,सिरहा | आज के दिन ही २२ जून १९८1 (वि. स. २०३८ असार ८ गते) कृष्णपक्ष-प्रतिपद को मधेश स्वतंत्रता संग्राम के बीज बोने वालें महान आत्मा एवं अमर मधेशी शहीद रघुनाथ ठाकुर “मधेशी” को राज्य ने कायरतापूर्ण हत्या की थी | उनके रात्री के भोजन में विष मिलाकर स्वतंत्रता की आवाज को दबाना चाहा किंतु जैसे उन्होंने कहा था की एक दिन ऐसा आएगा जब मधेशी राजनीतिक रुप से सचेत हो जाएँगे और स्वतंत्रता की आवाज को बुलंद करेगा |

11 जुलाई 1934 (वि. स. 1991 असार 27) अम्बसिया(औंसी) के दिन तत्कालीन भलाभलेनी, मोरङ्ग और अभी के हरिनगरा-4, सुनसरी में पिता देब शुन्दर ठाकुर के आठ संतान में तृतिय एवं पूत्रो में द्धितिय के रुप में रघुनाथ ठाकुर का जन्म हुआ | बचपन से तिक्ष्ण एवं कुशाग्र बुद्धि के रुप में परिचित मधेशी आई ए के छात्र थे | नेपाल सरकार के ओर से छात्रवृत्ति प्राप्त करने वाले वे पहला ब्यक्ति हैं जिससे अन्दाजा लगाया जा सकता हैं कि वे अध्ययन में कितने महारथी थे |

नेपाल सरकार के करार के मुताबिक अध्ययन पश्चात उन्हें सरकारी नौकरी करना था जो उनके आत्म-सम्मान को ठेस पहुँचाता इसिलिए जान बुझकर वे हमेशा फेल होते थे | मात्रिभूमि की सेवा में सरकारी सेवा एवं सुविधा को भी त्याग करने वाला व्यक्ति वे सच में एक त्यागी थे |

मधेश आजादी के आवाज को बुलंद करने हेतु उन्होंने परतंत्र मधेश और उसकी संस्कृति नामक पुस्तक लिख कर उसे प्रकाशित करवा कर एवं उसे भारत के सभी संसदो को बितरण किया था | दिन के उजाले में पैट्रोमेक्स जलाकर वे दिल्ली संसद के आसपास घुमते थे कि भारत उन्हें नोटिस करें एवं मधेश स्वतंत्रता की आवाज को एक उचाई मिले |

नेपाली साम्राज्य के चुनावों से मधेशीयों को कुछ नहीं मिलने वाला हैं यह बात उन्हें भलिभाँति पता था | इसिलिए पंचायत और प्रजातंत्र के लिए हुआ जंमत-संग्रह के चक्कर में मधेशीयों को न पड़ने के लिए आह्वान करते हुये कहा था की मधेशी के आत्मसम्मान के लिए आजादी ही एक विकल्प हैं |

“चले आये हैं, पगडण्डी बनाते इस किनारे तक,
खुशी हैं, अब उसे चौरस बनाते वाद वाले हैं ||”

मेरे राजनितिक जीवण के आदर्श एवं अमर मधेशी शहीद रघुनाथ ठाकुर “मधेशी” को तहे दिल से नमन हैं |

रामेश्वर प्रसाद सिंह (रमेश)

आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.

Leave a Reply

avatar
  Subscribe  
Notify of