Sun. Oct 21st, 2018

सत्तामोह ने सद्भावना पार्टी की विश्वसनीयता को कम किया

CAM00088श्वेता दीप्ति, काठमान्डौ श्रावण ३ गते । सद्भावना पार्टी के द्वारा नया बानेश्वर के अल्फा वीटा के सभागार में संविधान सभा और मधेश की भावी योजना तथा आर्थिक मार्ग विषय पर अन्तरक्रियात्मक कार्यक्रम आयोजन किया गया । कार्यक्रम में सद्भावना पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष राजेन्द्र महतो के अतिरिक्त अन्य सम्बन्धित लोगों की उपस्थिति थी । अध्यक्ष महोदय ने माना कि अतीत में कई गलतियाँ हुई हैं जिसका खामियाजा आज मधेशी पार्टियाँ भुगत रही है । किन्तु आज विश्लेषण और विवेचन का वक्त है । हमें अपने अधिकारों के लिए सडक से संसद तक की राह तय करनी होगी ।
कार्यक्रम में दो कार्यपत्र प्रस्तुत किए गए जो मधेश की आर्थिक स्थितियों का अवलोकन थी । प्रस्तुतकत्र्ता त्रि। वि। के अर्थशास्त्र विभाग के डा। सोहन कर्ण और डा। उमाशंकर प्रसाद थे । इन्होंने काफी विस्तार से मधेश के सन्दर्भ में आर्थिक नीतियों और त्रुटियों का विश्लेषण किया ।CAM00090
खुले सत्र में महाजन यादव, पूर्व मंत्री उमाकान्त झा, अधिवक्ता सुरेन्द्र महतो, अधिवक्ता दीपेन्द्र झा , दिगिवजय मिश्र, दिगम्बर झा जैसे विज्ञ ने अपनी अपनी धारणा व्यक्त की । वक्ताओं का मानना था कि पार्टी को सरकार में न जाकर सरकार पर बाह्य दवाब बनाना चाहिए । बजट जो पूरी तरह मधेश विरोधी है उसे जलाना चाहिए । पार्टी जो हार का सामना कर रही है उसे जनता के समक्ष फिर से पूरी तैयारी के साथ जाना चाहिए । परिवारवाद भी विचारों में उभर कर आया । कार्यक्रम में हर पक्ष के विद्वानों की उपस्थिति थी ।

आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.

Leave a Reply

avatar
  Subscribe  
Notify of