Tue. Dec 11th, 2018

समृद्ध सिन्धुली निर्माण के लिए पत्रकारों की विचार–विमर्श

काठमांडू, ५ सितम्बर । केपीशर्मा ओली नेतृत्व में निर्मित वर्तमान सरकार ने एक नारा तय किया है– ‘सृमद्ध नेपाल, सुखी नेपाली ।’ ऐसी ही अवस्था में सिन्धुली जिला के स्थायी निवासी और काठमांडू में रहकर विभिन्न मीडिया में आवद्ध पत्रकारों के बीच भी ‘समृद्ध सिन्धुली’ निर्माण के लिए अनौपचारिक विचार–विमर्श की गई है ।


नेपाल कम्युनिष्ट पार्टी के नेता तथा सिन्धुली निर्वाचन क्षेत्र नं. २ से निर्वाचित सांसद् हरिबोल गजुरेल की उपस्थिति में आयोजित कार्यक्रम में वक्ताओं ने सिन्धुली जिला की आर्थिक गतिविधि, विकास निर्माण संबंधी काम और विकास की दृष्टिकोण से अन्य सम्भावित विषयबस्तु के बारे में चर्चा किया । सिन्धुली पत्रकार समाज काठमांडू द्वारा आयोजित कार्यक्रम में सांसद् गजुरेल ने सिन्धुली जिला की ऐतिहासिक पृष्ठभूमि को उल्लेख करते हुए कहा कि कृषि उत्पादन और पर्यटकीय दृष्टिकोण से सिन्धुली जिला महत्वपूर्ण है । नेता गजुरेल को कहना है कि कृषि और पर्यटकीय क्षेत्र की विकास से ही सिन्धुली को समृद्ध बनाया जा सकता है । उन्हाेंने यह भी कहा कि जिला स्थित विकास निर्माण संबंधी विषयों को राष्ट्रीय मुद्दा बनाने की मुख्य भूमिका पत्रकार ही अदा कर सकते हैं ।
कार्यक्रम में बोलते हुए नेपाल पत्रकार महासंघ के पूर्व सभापति सुरेश आचार्य ने कहा कि वर्तमान राजनीतिक नेतृत्व के प्रति आम जनता की असिमित चाहत है, जो वर्तमान सरकार तथा राजनीतिक नेतृत्व से सम्बोधन नहीं हो पाया है । उन्होंने यह भी कहा कि सिन्धुली को समृद्ध बनाने के लिए कई सम्भावनाएं है, जिसमें ईमानदारिता पूर्वक काम होना चाहिए । पत्रकार आचार्य को यह भी कहना है कि विकास और समृद्धि संबंधी मुद्दा में सभी राजनीतिक पार्टियों को इकठ्ठा होना जरुरी है । इसीतरह दूसरे पत्रकार लिलानाथ घिमिरे ने कहा कि सिन्धुली में हाइकिङ पर्यटन की सम्भावना असिमित है, लेकिन उसके लिए कुछ भी काम नहीं हो पाया है । पर्यटकों को आकिर्षत करने के लिए काठमांडू–सिन्धुली गढी तथा काठमांडू–सिन्धुली–जनकपुर तक की साइकिल यात्रा अभियान के संबंध में चर्चा करते हुए पत्रकार घिमिरे ने कहा कि सिन्धुली जिला की ऐतिहासिकता, प्राकृतिक सौन्दर्यता, धार्मिक तथा सांस्कृतिक स्थल आदियों की प्रचार–प्रसार कर यहां पर्यटकों को आकर्षित किया जा सकता है ।


इसीतरह वक्तओं को कहना है कि सिन्धुली जिला होते हुए राष्ट्रीय स्तर की तीन राजमार्ग सञ्चालित है, जो विकास–पूर्वाधार के लिए महत्वपूर्ण पक्ष है । इसीतरह जल विद्युत उत्पादन, कोशी हाइड्याम, सुनकोशी डाइभर्सन आदि विषयों में भी पत्रकारों ने चर्चा की । पत्रकार दीपक श्रेष्ठ के अनुसार इस तरह का विचार–विमर्श आगामी दिनों में भी जारी रहेगा, जिससे सिन्धुली जिला स्थित विसका संबंधी मुद्दा को राष्ट्रीयकरण किया जा सके ।

आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.

Leave a Reply

avatar
  Subscribe  
Notify of