Mon. Nov 19th, 2018

सर्वोच्च अदालत में पेश किया जा रहा है चौधरी को

काठमांडू, १६ अगस्त । प्रतिनिधिसभा सदस्य के लिए कैलाली से निर्वाचित रेशम चौधरी को सर्वोच्च अदालत पेश किया जा रहा है । वि.सं. २०७२ भाद्र ७ गते टीकापुर में हुई हत्याकाण्ड संबंधी घटना में आज (बिहीबार) पहली बार पेशी निर्धारण की गई है । उक्त हत्याकाण्ड के लिए चौधरी को दोषी माना गया है, इसी आरोप के साथ चौधरी अभी पुर्पक्ष के लिए काठमांडू स्थित डिल्लीबाजार कारागार में बन्दी जीवन जी रहे हैं ।
स्मरणीय है– थारुहट आन्दोलन के क्रम में वि.सं. २०७२ भाद्र ७ गते आन्दोलनकारियों ने एक नाबालक सहित ७ नेपाल पुलिस को हत्या किया था । उसके दूसरे दिन भाद्र ८ गते कफ्र्यु आदेश जारी रहते वक्त थारु समुदाय के सयों घर और पसल में अगजनी की गई थी । पुलिस अधिकारियों की हत्या संबंधी घटना में दोषी मानते हुए चौधरी और २ नाबालक सहित २६ लोगों के ऊपर मुद्दा पंजीकृत की गई है । उन लोगों के ऊपर कर्तव्य ज्यान और चोरी संबंधी आरोप लगाया गया है । लेकिन मधेशवादी राजनीतिक दलों का कहना है कि उन लोगों के ऊपर झूठा मुद्दा दर्ज की गई है, इसीलिए सभी बन्दियों को बिनाशर्त रिहा करना चाहिए ।

आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.

Leave a Reply

avatar
  Subscribe  
Notify of