Sun. Oct 21st, 2018

सामाजिक सद्भाव के लिए प्रशिक्षण

नेपालगन्ज/(बांके) पवन जायसवाल
सामाजिक सद्भाव, एकता, सामुदायिक सुरक्षा और सुशासन को लक्षित करते हुए नेपालगंज में एक प्रशिक्षण आयोजन किया गया सामाजिक सद्भाव प्रबद्र्धन तथा अभिबृद्धि के लिए गठित सामाजिक सद्भाव समिति के सदस्यों को सामाजिक सद्भाव, सामाजिक एकता, सामुदायिक सुरक्षा और सुशासन केबारे में गत सोमवार को प्रशिक्षण दिया गया है । युएनडिपी की सहयोग में बास द्वारा सञ्चालित सामाजिक सद्भाव तथा सामुदायिक सुरक्षा सुदृढिकरण परियोजना अन्र्तगत उक्त प्रशिक्षण कार्यक्रम आयोजित था ।


प्रशिक्षण कार्यक्रम को उद्घाटन करते हुए कार्यक्रम के प्रमुख अतिथि नेपाल उद्योग वाणिज्य महासंघ के केन्द्रीय सदस्य तथा सामाजिक सद्भाव मूल समिति के सल्लाहकार कृष्णप्रसाद श्रेष्ठ ने कहा कि सामाजिक सद्भाव और सहिष्णुता से ही समृद्धि और विकास सम्भव हो सकता है । कार्यक्रम के अतिथि तथा मुस्लिम धर्म गुरु अन्तरधार्मिक तथा सामाजिक सद्भाव मञ्च के उपाध्यक्ष मौलाना अब्दुल जब्बार मञ्जरी ने सामाजिक सद्भाव के लिए नेपालगञ्ज शहर को नमूना बनाने का बात कहा । उन्हों ने कहा कि सभी धर्म के गुरुओं ने एक जगह में रहकर नेपालगञ्ज में जो सद्भाव प्रकट की गई, वह विश्व जगत के लिए प्रशंसनीय काम हैै । उन्होंने कहा– ‘जब मानव की बीच मेलमिलाप होती है, व्यक्ति स्वतन्त्रतापूर्वक जीते है, वहा सद्भाव होती है ।’


गैर सरकारी संस्था महासंघ बांके की अध्यक्ष सपना भट्राई ने कहा कि सद्भाव की शुरुआत अन्तरआत्मा पबित्र मन से होती है । कार्यक्रम का संयोजन शम्भु शाही ने किया और बास के कार्यकारी निर्देशक नमस्कार शाह ने कार्यक्रम की उद्देश्य पर चर्चा की । और बास के अध्यक्ष मन भण्डारी ने धन्यवाद ज्ञापन किया था ।
कार्यक्रम में बौद्र्ध धर्मगुरु गुञ्जबहादुर लामा, क्रिश्चियन धर्म गुरु बेञ्जामीन श्रेष्ठ, सिक्ख धर्म के अगुवा राजेन्द्र सिंह सरदार लगायत लोगों की उपस्थिति रही । कार्यक्रम में ऋचा लुईंटेल और मकबूल अहमद मुकेरी ने अपेक्षा मन्तव्य व्यक्त किया । प्रशिक्षण कार्यक्रम में बास के कार्यकारी निर्देशक नमस्कार शाह ने सुशासन, प्राध्यापक रबिन्द्र कर्ण ने सामाजिक समावेशिकरण और युएनडिपी प्रदेश नम्बर ५ और ६ के संयोजक सतिश पाण्डेय ने सामाजिक सद्भाव, सामुदायिक सुरक्षा और सामाजिक एकता की बिषय पर प्रशिक्षण दिया था ।
तालीम पश्चात बोलते हुये सामाजिक सद्भाव मूल समिति के सह–संयोजक मोहम्मद फरिदुल हक और सामाजिक सद्भाव शिक्षक समिति संयोजक नोखीराम लामिछाने ने कहा कि तालीम प्रभावकारी रह ।

आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.

Leave a Reply

avatar
  Subscribe  
Notify of