Sat. Nov 17th, 2018

हिंदुओं के शिक्षा का स्तर बेहद चिंताजनक

hindu-symbols-10a
आधुनिक समय में भी हिंदुओं के शिक्षा का स्तर बेहद चिंताजनक बना हुआ है। मंगलवार को पिउ रिसर्च सेंटर की रिपोर्ट में खुलासा हुआ कि दुनिया भर में दूसरे बड़े धर्मों के मुकाबले हिंदुओं के शिक्षा का स्तर सबसे बदतर है। हालांकि पिछले कुछ दशकों में हिंदुओं के शैक्षणिक स्तर में सुधार देखने को मिला है। वहीं, शिक्षा के मामले में यहूदी शीर्ष पर काबिज हैं। इस बाबत पिउ रिसर्च सेंटर ने 151 देशों का गहन शोध किया।
 पिउ ने हिंदुओं की पुरानी पीढ़ी और नई पीढ़ी के शैक्षणिक स्तर को लेकर किए गए शोध में पाया कि पुरानी पीढ़ी की तुलना में नई पीढ़ी के हिंदुओं के स्कूल जाने का औसत 3.4 साल ज्यादा रहा। इसके बावजूद दूसरे धर्मों की अपेक्षा हिंदुओं के शिक्षा का स्तर सबसे बदतर है।
पिउ की ओर से जारी ‘रीलिजन एंड एजूकेशन अराउंड द वर्ल्ड लार्ज’ रिपोर्ट के मुताबिक वैश्विक स्तर पर स्कूल जाने का औसत 5.6 साल है, जबकि 41 फीसदी हिंदुओं के पास प्राइमरी की भी डिग्री नहीं है। 10 में से सिर्फ एक हिंदू इंटरमीडिएट तक पढ़ा है।
इस बीच दुनिया भर में हिंदू महिलाओं के शिक्षा के स्तर में तेजी से सुधार देखा गया, लेकिन दूसरे धर्मों की तुलना में हिंदुओं में शिक्षा को लेकर सबसे ज्यादा लैंगिक असमानता बनी हुई है।
अमर उजाला से

आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.

Leave a Reply

avatar
  Subscribe  
Notify of