Wed. Oct 17th, 2018

हिमस्खलन में करीब नौ पर्वतारोहियों की मौत

काठमांडू,  

पश्चिम नेपाल स्थित माउंट गुर्जा पहाड़ पर हुए हिमस्खलन में करीब नौ पर्वतारोहियों की मौत हो गई है। इस पहाड़ की चोटी करीब 7,193 मीटर ऊंची है। हादसे में मरने वालों में पांच दक्षिण कोरियाई पर्वतारोही शामिल हैं। ये पांचों अपने टीम लीडर किम चांग हो के साथ ट्रेकिंग कर रहे थे। किम बिना सप्लीमेंटल ऑक्सीजन के आठ हजार मीटर से ऊंची 14 चोटियों पर पहुंचने वाले पहले द. कोरियाई थे। उनकी टीम के साथ सहायक स्टाफ के तौर पर चार नेपाली भी जा रहे थे। हादसे में उन सभी की भी मौत हो गई।

नेपाल ट्रेकिंग कैंप के प्रबंधक निदेशक वांगचु शेरपा ने बताया, सभी पर्वतारोही खराब मौसम के कारण 3500 मीटर की ऊंचाई पर बने बेस कैंप में रुके हुए थे। शुक्रवार की शाम हिमस्खलन के बाद आए बर्फीले तूफान में उनका कैंप बर्फ में दब गया जिससे उनकी मौत हो गई। ये सभी पर्वतारोही माउंट गुर्जा की चढ़ाई के लिए सात अक्टूबर को गुर्जा गांव से निकले थे।’

शवों की खोज के हेलीकॉप्टर भेजा

शवों की खोज के लिए घटनास्थल पर शनिवार को हेलीकॉप्टर भेजा गया।  पर्वतारोहण नेपाल में आय का प्रमुख स्त्रोत है। पहाड़ से गिरने या हिमस्खलन से यहां सबसे अधिक मौत होती है। 2015 में आए भूकंप के बाद हुए हिमस्खलन से 19 पर्वतारोहियों की मौत हो गई थी।

आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.

Leave a Reply

avatar
  Subscribe  
Notify of