Sun. Nov 18th, 2018

१० करोड़ के लिए सांसदों का दबाव

काठमांडू, १५ अप्रिल । निर्वाचन क्षेत्र पूर्वाधार विशेष कार्यक्रम के नाम में प्रतिसांसद १० करोड रुपयां के लिए सांसदों ने सरकार को दबाव दिया हैं । कार्यक्रम अन्तर्गत इससे पहले प्रतिसांसद ३ करोड़ मिल जाता था । उस को बढ़ा कर १० करोड़ बनाने के लिए सांसदों ने दबाव दिया है । स्मरणीय है, इस कार्यक्रम को कार्यकर्ता भरण–पोषण कार्यक्रम के रुप में भी जाना जाता है । लोगाें मानना है कि निर्वाचन क्षेत्र पूर्वाधार विशेष कार्यक्रम के नाम में प्राप्त रकम को दुरुपयोग किया जाता है ।
कार्यक्रम अन्तर्गत इससे पहले कूल १० अर्ब २० करोड बजट विनियोजित किया जाता था । लेकिन उसका परिणाम कुछ भी नहीं दिखाई देता है । इससे पहले कुल २४० निर्वाचन क्षेत्र के लिए ७ अर्ब २० करोड और हर सांसदों (कूल ६०१ सांसद्) के लिए अलग ही ५० लाख विनियोतिज होता था ।
सांसदों की मांग के अनुसार निर्वाचन क्षेत्र पूर्वाधार कार्यक्रम के लिए बजट विनियोजित किया जाता है तो कूल १६ अर्ब ५० करोड लगनेवाला है । देश में कूल १६५ निर्वाचन क्षेत्र है । इसीतरह पहले की तरह प्रत्येक सांसदों को अलग ही ५० लाख दिया जाएगा तो थप १ अर्ब ३७ करोड ५० लाख रकम आवश्यक पड़ता है । इस तरह कूल १८ अर्ब सांसदों के नाम में राज्यकोष से खर्च करना पड़ता है ।

आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.

Leave a Reply

avatar
  Subscribe  
Notify of