Thu. Jul 2nd, 2020

विभेद असंतोष पैदा करता है और असंतोष आक्रोश : श्वेता दीप्ति

  • 67
    Shares

यह भिडियो देखे

विभेद असंतोष पैदा करता है और असंतोष आक्रोश । हिन्दी के साथ सरकार का सौतेला व्यवहार सचमुच दुर्भाग्यपूर्ण है । संसद देश के कोने कोने से आए प्रतिनिधियों का स्थान है वहाँ अगर आपको भाषा विशेष के कारण बोलने से रोका जाता है तो वह सिर्फ और सिर्फ सत्ता की रुग्ण और तानाशाही मानसिकता का परिचायक है । हिन्दी में नहीं बोलने के लिए अदालत में रिट दायर करना इसका क्या अर्थ लिया जाय ? क्या यह देश लोकतंत्र नहीं बल्कि लोकतंत्र के डेमो के साथ चल रहा है ?

आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Loading...
%d bloggers like this: