Tue. Oct 22nd, 2019

एस.ओ.एस.युवा क्लव नेपालगन्ज व्दारा गुणस्तरीय शिक्षा पर जोड

IMG_3827 IMG_3847 IMG_3857नेपालगन्ज,(बाँके) पवन जायसवाल, पौष १० गते ।
एस.ओ.एस.युवालय नेपालगन्ज ने सुर्खेत जिला के गुमी– ५ स्थित श्री जन संयुक्त प्राथमिक विद्यालय को शिक्षण तथा खेलकुद सामाग्री पौष ९ गते मंगलवार को वितरण किया है ।
कार्यक्रम में एस.ओ.एस.युवा क्लव नेपालगन्ज ने ८ दर्जन कापी, १२ दर्जन पेन्सिल, २, २ दर्जन कटर तथा इरेजर, ६ थान चार्ट पेपर, १ रिग ड्रईग पेपर, ३ फुटवल, ३ स्कीपिङ्ग, ४ थान लुडो, २ थान चेस लगायत की सामाग्रिया“ बिद्यालय के प्रधानाध्यापक सुरेन्द्र श्रेष्ठ को एक कार्यक्रम के बीच में  हस्तान्तरण किया गया ।
कार्यक्रम में बिद्यालय के प्रधानाध्यापक सुरेन्द्र श्रेष्ठ न कहा इस प्रकार की सहयोग पहली बार हुई है तथा इस सहयोग से हम सभी शिक्षकों को नई जोश और जागर प्रदान किया है इस के  साथ में सम्पूर्ण बिधार्थीयों को सही और गुणस्तरीय शिक्षा की आशा आया है ।
इसी तरह अभिभावकाओं ने भी ऐसा भाव व्यक्त कियें थे, हम लोगों ने जिन्दगी में सोचा ही नही था जो सहयोग किया एस.ओ.एस. युवा क्लव नेपालन्ज प्रति हम सभी अभिभावक बहुत बहुत आभारी है । बि.सं. २०५२ साल में स्थापना हुई विद्यालय में अभी तक बिपन्न तथा दलित समुदाय के ७० विद्यार्थीयों ने लाभान्भित हुयें है । इस विद्यालय में  सिर्फ ३ लोग  राहत शिक्षक की दरवन्दी रही  है ।
युवा क्लव एसओएस युवालय नेपालगन्ज के युवाओं ने अपने पकेट खर्च से रु ५० मासिक अनुदान से चलाते आयें है । इसी तरह  संकलित किया गया रकम युवालय में रहे युवाओं के द्धारा समाज कल्याण के कार्य में खर्च करते आ रहे है ।
स्मरण रहे युवालय नेपालगन्ज में ७० लोग युवायुतीया“ संरक्षित रहे है  जह“ँ उच्च शिक्षा तह से स्नाकोतर तक के य्ुवायुवतीया“ अध्ययनरत रहे है । जिस अन्र्तगत जादा से जादा युवायुवतीया“  टेक्नीकल बिषय अन्र्तगत नर्सिङ्ग, ल्याव, बिएन, बिपिएच तथा अन्य व्यवसायिक शिक्षा हासिल करते इस संस्था से समाज में पुर्नस्थापित होकर असल नागरिक कीे जीवन व्यतित कर रहे है ।
जहा“ं पे बिपन्न, वर्ग के युवायुवतीओं को लम्बा समय तक पारिवारिक पद्धति अनुरुप पालन पोषण करके उचित देखभाल के साथ व्यवहारिक ज्ञान तथा शिक्षा देकर सफल जीवनयापन कराके  भविष्य में आत्मानिर्भर भी बनाते आया है एसओएस युवालय नेपालगन्ज के सहायक निर्देशक तुलाराम विश्वास ने यह जानकारी दिया ।

आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *