Tue. Jun 25th, 2024

 टीक–टॉक बंद करने वाले देश में नेपाल भी होगा  शामिल , नेपाल २७ वां देश



काठमांडू, २८ कात्तिक – नेपाल सरकार की ओर से यह निर्णय लिया जा चुका है कि सामाजिक सञ्जाल प्लेटफार्म टिक–टॉक को बंद किया जाए । और इससे पहले २६ देशों ने अपने देश में इस ऐप को बंद कर दिया है । नेपाल २७वें नम्बर पर है ।
लेकिन यहाँ इसका बहुत विरोध भी किया जा रहा है । विरोधियों का कहना है कि यह वाक् स्वतंत्रता का हनन करना है और गणतंत्र देश में इस तरह किसी की वाक् स्वतंत्रता का हनन नहीं किया जाना चाहिए । वैसे लेकिन नेपाल कोई पहला देश नहीं हैं जिसने इस ऐप को बंद करने का निर्णय लिया है । इससे पहले भी २६ देशों ने टीक–टॉक को अपने देश में बंद किया है ।
टिक–टॉक एक ऐसा ऐप है जिसमें लोग छोटे–छोटे वीडियो बनाते हैं और विडियों को शेयर करते हैं । नेपाल में अभी इसका बहुत क्रेज है । क्या बच्चें, क्या युवा युवती या फिर क्या वृद्ध वृद्धा सभी टीक–टॉक में व्यस्त । नेपाल में भी कुछ दिनों से इसे बैंड करने की बात चल रही है और सोमवार को सरकार ने यह निर्णय ले लिया है । वैसे भारत में भी कुछ सालों से टिक–टॉक का क्रेज काफी बढ़ गया था । ये ऐप २०१६ में लॉन्च की गई थी लेकिन २०१८ में ये बहुत फेमस हुई । अक्टूबर २०१८ में टिक–टॉक अमेरिका में सबसे ज्यादा डाउनलोड की जाने वाली ऐप बन गई । लेकिन बाद में इलेक्ट्रॉनिक्स और इंफॉर्मेशन टेक्नोलॉजी मिनिस्ट्री ने गूगल और एपल से इस ऐप को हटाने के लिए कहा है ।
जैसे सरकार ने यह निर्णय लिया है कि इस ऐप को बंद करने का तो नेपाल सहित टीक–टॉक में प्रतिवन्ध लगाने वाला देश की संख्या नेपाल सहित २७ पहुँच गया है ।
बेलायत,अमेरिका,न्यूजिल्यान्ड,कनडा,ताइवान,बेल्जियम,डेनमार्क,पाकिस्तान,अफगा–निस्तान,भारत,सोमालिया,अर्मेनिया,अजरवैजान,बंगलादेश,इन्डोनेशिया,ईरान,जोर्डन, अष्ट्रिया,ईस्टोनिया,फ्रान्स,आयरल्यान्ड,लाटभिया,माल्टा,नेदरल्यान्ड,नार्वे,आष्ट्रेलिया तथा २७ वें नम्बर पर है नेपाल ।

 



About Author

आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Loading...
%d bloggers like this: