Sun. May 19th, 2024

राप्तीसोनारी गावँपालिका और नेपालगन्ज में दिपावली के लिये व्यवसायिक फूल की खेती



नेपालगन्ज /(बाँके) पवन जायसवाल । बाँके जिला के राप्तीसोनारी गावँपालिका और नेपालगन्ज ने दिपावली त्योहार के लिये व्यवसायिक फूल की खेती किया गया है । दो वर्ष पहले से व्यवसायिक फूल की खेती कर रही नेपालगन्ज उप–महानगरपालिका वार्ड नं.–६ में रहा केयर फार्म नेपाल ने इस वर्ष १० क्विन्टल सयपत्री फूल उत्पादन किया है ।
व्यवसायिक फूल की खेती लगानी अनुसार की प्रतिफल और उब्जनी अनुसार की बाजार ने उत्साह सिर्जना किया है वह केयर फार्म नेपाल के सञ्चालक तेज प्रकाश दिक्षित ने बताया है । उन्हों ने कहा फूल की ‘उत्पादन और बिक्री वितरण की अवस्था बाजार में अच्छी रही है’, अच्छी मूल्य में सयपत्री फूल बिक्री हो रही है, इस वर्ष केवल १० कुन्टल फूल उत्पादन हुआ है ।’
बाजार की माँग की अनुसार होम डेलिभरी समेत किया गया है स्थानीय फूल की माँग उत्साहजनक रही है तेज प्रकाश दीक्षित ने बताया ।
इसी तरह बाँके जिला के राप्तीसोनारी गावँपालिका वार्ड नं.–२ में रहा साना किसान कृषि सहकारी संस्था ने भी दिपावली त्योहार के लिये १२ कुन्टल सयपत्री फूल उत्पादन किया है । प्लाष्टिक की कृत्रिम माला को विस्थापित करते हुये प्राकृतिक फूल की प्रयोग बढाने के उद्देश्य से ३ लाख रुपैया की लगानी में ३ कठ्ठा जमीन में सयपत्री फूल की खेती किया गया है साना किसान सहकारी संस्था ने जानकारी दी है ।
कुछ वर्ष इधर चाडपर्व दिपावली त्योहार की समय पर फूल की माँग अधिक बढ्ते गया है इस लिये पुष्प की खेती किया गया है साना किसान कृषि सहकारी के प्रबन्धक अमरराज गौतम ने बताया है । उन्हों ने कहा कृषि क्षेत्र में कुछ नई काम किया जाय कहकर साना किसान कृषि सहकारी संस्था ने सयपत्री फूल की खेती की है जानकारी देते हुये सहकारी ने आठ बिघाहा जमीन ठेक्का में लेकर अन्य खेती की साथ साथ करीब ३ कठ्ठा में व्यावसायिक रुप में फूल की खेती करके बिक्री तथा आम्दानी करना शुरु किया है ।

उत्पादन किया गया फूल की खपत अभी बाँके जिला के कोहलपुर में और नेपालगन्ज में हो रही है और फूल की माँग उच्च रही है सहकारी ने जानकारी दी है । सहकारी ने अभी प्रतिकिलो ३ सौ रुपैपा के दर से सयपत्री की फूल बिक्री करते हायी है ।
इस वर्ष पहली बार किया गया सयपत्री फूल खेती से १२ कुन्टल सयपत्री की फूल उत्पादन हुआ है साना किसान कृषि सहकारी के अध्यक्ष दिर्घबहादुर बुढाथोकी ने बताया है । इस बार की बिक्री से उत्साहित होकर आगामी वर्ष से खेती और बढाया जायेगा उन्हों ने बताया है ।
कृषि ज्ञान केन्द्र बाँके जिला के प्रमुख शकील अहमद ने बहा फूल की खेती कारोबार करना चाहने वाले सहकारी और किसान दोनों को विभिन्न प्रकार की सहयोग और अनुदान उपलब्ध कराया जायेगा बताया । बाँके जिला के कोहलपुर और खजुरा के किसानों ने व्यवसायिक फूल खेती में लगानी कर रहें हैं ।



About Author

यह भी पढें   सरकार द्वारा घोषित नीति एवं कार्यक्रम में नया कुछ नहीं
आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Loading...
%d bloggers like this: