Thu. Apr 18th, 2024

पता होता कि अपमान होगा तो कभी शामिल नहीं होता : महंथ ठाकुर

काठमांडू. 16 मार्च



लोकतांत्रिक समाजवादी पार्टी, नेपाल के अध्यक्ष महंथ ठाकुर ने कहा है कि नेपाल में लोकतंत्र तो आ गया है, लेकिन व्यवहार गोर्खाली साम्राज्यवाद का है। शहीद केशव कोइराला मेमोरियल फाउंडेशन और मटिहानी नगर पालिका की संयुक्त पहल के तहत आयोजित कोइराला के स्टेच्यु के अनावरण कार्यक्रम में बोलते हुए उन्होंने यह बात कही.
ठाकुर ने कहा कि राष्ट्रपति रामचन्द्र पौडेल की मौजूदगी वाले कार्यक्रम में उनके सांसदों की उपेक्षा की गयी है । उन्होंने कहा कि अगर उन्हें पता होता कि उनका अपमान होगा तो वह कार्यक्रम में शामिल नहीं होते । उन्होंने कहा कि लोकतंत्र में जनता को अधिकार है और जनता ही सबसे ऊपर होगी ।
उन्होंने कहा, ”कुछ भी कहने से पहले मैं अनुरोध करना चाहूंगा कि महोत्तरी जिले के हमारे अपने क्षेत्र के सांसद भी हमारे साथ आए थे.” अब मैं उन्हें यहां नहीं देख पा रहा हूं. माननीय राष्ट्रपति जी यह आपका कार्यक्रम नहीं है, यह मेयर का कार्यक्रम है. मैं उनके निमंत्रण पर आया हूं.’ मुझे अब भी नहीं पता था कि हमारे सांसदों का इस तरह अपमान होता है. जो आपके स्वागत के लिए आपके साथ आये थे. औपचारिकता के तौर पर उन्हें नाम से भी नहीं बुलाया गया. यह क्या है हमने लोकतंत्र के लिए लड़ाई लड़ी है. लेकिन लोकतंत्र में लोगों के पास अधिकार हैं. सबसे ऊपर जनता है. अब ऐसा लगता है कि लोकतंत्र और गणतंत्र दोनों  है, लेकिन अब भी यहां का व्यवहार गोर्खाली साम्राज्यवाद जैसा ही है. यहां मेयर से समझा तो उन्होंने कहा कि आदेश ऊपर से आया है। जो सर्वोच्च हैं वो तो हमारे सामने ही हैं, नेपाल के संविधान में उनसे ऊंचा कोई नहीं है.

उन्होंने कहा कि गोली चलाकर लोगों को मारना गलत है और शांति एवं शासन व्यवस्था बनाए रखें और चेतावनी दी कि विद्रोह कभी भी हो सकता है. उन्होंने जोर देकर कहा कि लोकतंत्र में जनता ही सबसे महत्वपूर्ण चीज है.



About Author

यह भी पढें   काठमांडू के कुछ क्षेत्रों में आज से बिजली में की जाएगी कटौती
आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Loading...
%d bloggers like this: