Sat. May 18th, 2024

‘ओली सरकार जनता के पक्ष में नहीं, माफिया के पक्ष में है’

काठमांडू, २ जुलाई । अधिवक्ता ओमप्रकाश अर्याल को कहना है कि वर्तमान सरकार जनता के पक्ष में नहीं, माफिया के पक्ष में दिखाई दिया है । आइतबार काठमांडू में आयोजित एक साक्षात्कार कार्यक्रम को सम्बोधन करते हुए अधिवक्ता अर्याल ने यह भी कहा कि सरकार तानाशाही, सर्वसत्तावाद और अधिनायकवाद की ओर उन्मुख हो रहा है । उन्होंने कहा– ‘उपत्यका में १० साल तक शिक्षण अस्पताल खोलने के लिए प्रतिबन्ध, निजी क्षेत्र के मेडिकल कॉलेज द्वारा संचालित स्वास्थ्य सेवा में निगरानी, छावृत्ति संबंधी व्यवस्था की उचित कार्यान्वयन, कर्णाली स्वास्थ्य विज्ञान प्रतिष्ठान में जो समस्या है उसको सम्बोधन, राप्ती अञ्चल अस्पताल और गेटा शिक्षण अस्पताल की समस्या सम्बोधन के लिए डा. गोविन्द केसी अनसन में हैं । हम लोग उनके साथ में हैं । अगर सरकार पूर्व सहमति को छोड़कर संचालित होता है तो सड़क से ही सरकार का विकल्प ढूढ़ना जरुरी है ।’
अधिवक्ता अर्याल को यह भी मानना है कि काठमांडू माइतीघर मण्डला में प्रदर्शन में रोक लगना संविधान की भावना विपरित है । उन्होंने कहा कि लोकतन्त्र का मतलव सिर्फ बहुमतों की संख्या नहीं है, जनता की आवाज भी है । कानुनी आधार के बिना कोई भी कार्य स्वीकार्य नहीं है, ऐसा कहते हुए अर्याल आगे कहते हैं– हमारी समर्थन सत्य के पक्ष में हैं, देश और जनता की पक्ष में है । सरकार जनता की सेवक है, मालिक नहीं ।’
इसीतरह निजी मेडिकल एण्ड डेन्टल कॉलेज एशोसिएसन नेपाल के अध्यक्ष डा. सुरेशकुमार कनौडिया का कहना है कि निजी मेडिकल कॉलेज को निर्बाध संचालन होना उनकी अधिकार है । बीएनसी मेडिकल कॉलेज के संचालक दुर्गा प्रसाई का मानना है कि डा. गोविन्द केसी का मांग संबोधन करने का कोई भी जरुरत नहीं है । प्रसाई ने कहा– ‘दो तिहाई बहुमत का सरकार है, डा. गोविन्द केसी के सामने सरकार को क्यों झूकना पड़ा ? इसकी जरुरत क्या है ?’



About Author

आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Loading...
%d bloggers like this: