Tue. May 26th, 2020

मधेसका प्रथम प्राकृतिक अस्पताल राज्य द्वारा उपेक्षित

मनोज बनैता, सिरहा १७ जनवरी । सिरहा के धनगढीमाई नगरपालिका स्थित प्राकृतिक स्वास्थ्य अस्पताल २०६४ मे भारतीय राजदूत शिवशङ्कर मुखर्जी द्वारा सिल्यान्यास किया गया था । उक्त प्राकृतिक स्वास्थ्य अस्पताल के लिए भारत सरकारने कुल 2 करोड 27 लाख रूपैयाका सहयोग किया था ।

ईस कार्यमे स्वर्गीय सांसद नथुनी सिहं और
डा.हरि प्रसाद पोखरेल का महत्वपुर्ण भुमिका रहा था । भवन निर्माण जिला विकास समिति सिरहा ने किया था । कुछ निर्माणके काम बाकी है कहके संचालक समिति और ठेकदारके बिच कुछ अनबन के कारण भवन हस्तान्तरण नहि होपारहा था । कुछ समय के वाद बात मिल्नेपर २०७१ सालमे भवन व्यवस्थापन समितिको हस्तान्तरण किया गया ।

भवन निर्माण के तुरन्त बाद उपचार के लिए तकरिबन ८० लाख बराबर के सर्जिकल मेसिन लायागया था ।
संचालक समिति का उपाध्यक्ष रामेश्वर सिंह के अनुसार नगरपालिका मेयर से लेकर मन्त्रालय तक फरियाद लेकर गए पर कुछ ना होसका ।

यह भी पढें   आज के लिए बुलाया गया प्रदेश सभा बैठक स्थगित

सबसे गम्भीर प्रश्न यह है कि भवन निर्माण और सर्‍जिकल सामान आने के वाद भी आखिर नेपाली सम्राज्यके शासकको ने ए अस्पताल संचालन क्यों नहि कि? कहिं ए तो नहि कि ए अस्पताल मधेस मे है? कुछ लोगोका ए भि मानना है कि मधेसमे अगर ऐसे अस्पताल संचालन मे आगया तो काठमाडौं,धरान को बहुत नुकसान होगा ईसिलिए सरकार स्वीकृत नहि देरही है । कई स्थानीय लोगका सरकार उपर ए भि आरोप है कि ए सरकारका चाल है कि मधेस और मधेसी जनता सदाके लिए परनिर्भर रहे ।

यह भी पढें   लकडाउन में काठमांडू में दो मोटरसाइकिल आपस में टकराया, दोनों चालकों की मौत

हाल अस्पतालका चार मन्जिल मे से निचेवाला मन्जिल संचालक समिति के अनुमति वेगैर धनगढीमाई नगरपालिका कब्जा किया है । प्राकृतिक स्वास्थ्य अस्पताल संचालन मे स्थानीय निकाय ने कुछ ध्यान नहि दिया है ।

आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Loading...
%d bloggers like this: