Tue. Feb 27th, 2024

दांग: उप राष्ट्रपति परमानंद झा ने कहा है कि यदि राजनीतिक दल आम सहमति के माध्यम से मौजूदा राजनीतिक गतिरोध को समाधान करने मे विफल रहा तो देश को राहत देने के लिए राष्ट्रपति को कदम उठाने के लिए बाध्य होना पडेगा ।
“राष्ट्रपति लोगों की रुचि के अनुरुप ही हस्तक्षेप कर सकते हैं लेकिन यह राजनीतिक दलों की पुर्ण विफलता के बाद ही सभंव है ।
रिपोर्टर क्लब दांग द्वारा आयोजित कार्यक्रम में झा ने कहा कि देश अभी संकट में है लेकिन यह स्थिति लंबे समय के लिए नहीं रहेगी ।
“हमलोगों के पास राजनीतिक दलों पर विश्वास रखने के अलावा और कोइ विकल्प नहीं है आशा है कि पार्टियों के बिच जल्द से जल्द सहमति हो जायेगी।
वर्तमान समय में देश की एकमात्र निर्वाचित संस्था के रूप में राष्ट्रपति ही है उपाध्यक्ष झा का मानना ​​था कि राष्ट्रपति जरुर दोनों संविधान और देश की रक्षा करेंगे । उन्होने राजनीतिक दलों व्दारा उप राष्ट्रपति को उपेक्षा करने पर असन्तोष व्यक्त किया ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Loading...
%d bloggers like this: