Wed. Nov 13th, 2019

चीन भारतीय नागरिक समरसता के संयोजक टोरडी को अलगाववादी मानता है

काठमाण्डू: अन्तर्राष्ट्रीय समरसता के इन्टरनेशनल संयोजक एवं नेपाल सरकार के उपराष्ट्रपति भवन के सांस्कृतिक विशिष्ठ सलाहकार महावीर प्रसाद टोरडी को विश्व के पाँच शाक्तिशाली राष्ट्रो में सम्मलित चीन समरसता मिशन कोे अलगाव वादी के रूप मैं मानता है। चीन के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता लु कांग से पत्रकारों ने पूछा की क्या समरसता मिशनः- भारत को पुनः वैदिक कालीन जगतगुरू के आसन पर पद् स्थापित हो, दुनियां को 8वां सबसे ताकतवर देश भारत को सुरक्षा परिषद् मैं विटो पाॅवर के साथ स्थाई सदस्यता दिलाने की कोई योजना है तो चीन के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता लु कांग ने कहा की महावीर प्रसाद टोरडी के समरसता मिशन के अभियान को चीन राष्ट्र अलगाव वादी मानता है, टोरडी ने 22 राष्ट्रो का नैतिक समर्थन केवल भारत के लिए प्राप्त किया है, केवल भारत के लिए अभियान चलाया जा रहा है टोरडी अपने समरसता मिशन अभियान मैं चीन को भारत से छोटा बताकर अनेक राष्ट्रो से सम्पर्क कर एक पालीसी के तहत समर्थन लेने वाले अभियान को चीन राष्ट्र अलगाव वादी मानता है, टोरडी का अभियान चीन का वर्चस्व कम दुनिया को दिखाने के लिए भारत सरकार महावीर प्रसाद टोरडी को हथियार बनाकर आगे कर रही है।

महावीर प्रसाद टोरडी के अभियान पर चीन राष्ट्र व सरकार की पैनी नजर है चीन मैं अभियान की गतिविधियों पर मंथन किया जा रहा है। अभियान पर अंकुश लगाने के लिए चीन के अधिकारीयों, कारोबारीयों द्वारा प्रयास किया जा रहा है। महावीर प्रसाद टोरडी को 2010 मैं तिब्बती धर्म गुरू दलाईलामा ने चीन को विश्व मे नीचा दिखाने के लिए कार्ययोजना को मूर्त रूप दिया था चीन तिब्बती धर्म गुरू दलाईलामा व महावीर प्रसाद टोरडी को अलगावादी मानता है। चीन के दोनों व्यक्ति विरोधी है महावीर प्रसाद टोरडी को चीन मैं वीजा व प्रवेश नही दिया जायेगा। चीन के विदेश मंगलय के प्रवाता त्यु कांग ने कहा की टोरडी को केवल विश्व बन्धुत्व एमामहे कार्ययोजना पर ही समरसता मिशन चलाना चाहिये।
सचिव कार्यालय
मनोज जागिड

आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *