Tue. Nov 12th, 2019

16 जुलाई मंगलवार आषाढ़ शुक्ल पुर्णिमा को लगेंगे चन्द्र ग्रहण :  आचार्य।   

माला मिश्रा बिराटनगर ।  चन्द्र ग्रहण पूर्णिमा को होता है। जबकि सूर्य और चन्द्रमा के बीच पृथ्वी होती है और सूर्य पृथ्वी एवं चन्द्रमा यह तीनों बिल्कुल सीधा एक सरल रेखा पर होते हैं।पृथ्वी जब सूर्य और चन्द्रमा के बीच में आ जाती है और चन्द्रमा पृथ्वी की छाया होकर गुजरते हैं तब चन्द्र ग्रहण लगता है।पृथ्वी की वह छाया चन्द्र मंडल को ढक देती है।जिससे चन्द्रमा में काले रंग का मंडल  एक प्रकार का आकार दिखाई देती है।वही चन्द्र ग्रहण कहलाता है।आकाश में फैली हुई पृथ्वी की  यह छाया लगभग 8,57,000 मील लम्बी होती है।इसकी दूरी पृथ्वी और सूर्य के बीच की दूरी पर निर्भर होती है।अतः यह छाया घटती बढती रहती है।केवल8,43,000मील लम्बी होती है।चन्द्रमा अपने भ्रमण पथ पर चलते हुए जब पृथ्वी की उपछाया में जाते हैं तब विशेष परिवर्तन नहीं होती है।पर ज्योहीं वे प्रछाया के नजदीक आ जाते हैं तब उनपर ग्रहण प्रतीत होने लगता है।और जब उनका संपूर्ण मंडल प्रछाया के भीतर आ जाता है तब पूर्ण  चन्द्र ग्रहण अथवा  पूर्ण ग्रास चन्द्र ग्रहण माना जाता है।                                         इस बारे में आचार्य पंडित धमेंद्र नाथ मिश्र ने बताया कि आषाढ़ शुक्ल पूर्णिमा 16 जुलाई मंगलवार की रात्रि के 1बज कर 32 मिनट पर चन्द्र ग्रहण प्रारंभ होगी सुबह के 4 बजकर 30 मिनट पर चन्द्र ग्रहण की समाप्ति होगी।   ग्रहण लगने पर ज्ञानार्णन एवं धार्मिक कृत्य:- पृथ्वी पर ग्रहण लगने पर मानव कल्याण हेतु गुड़ रहस्य- प्रातः काल स्नान,यथासंभव दान, जप का विशेष विधान है।शास्त्रों में बताया गया है कि सूर्य ग्रहण लगने पर 12घंटे तथा 9घंटे पूर्व से विधवा यति वैष्णव और विरक्तों को भोजन नहीं करनी चाहिए।       बाल, वृद्ध,रोगी, छोटे बच्चे के लिए नियम अनिवार्य नहीं है।ग्रहण काल में शयन,शौचादि क्रिया भी वर्जित माना गया है।देव मूर्ति का स्पर्श भी वर्जित रहेगा। ग्रहण काल में अनुष्ठान, हवन,जप आदि करने से मानव जाति का सम्पूर्ण कल्याण सिद्ध होता है।   इस चन्द्र ग्रहण पर 12 राशियों पर कुछ इस प्रकार प्रभाव पड़ने वाले हैं।-   मेष राशि- अपशय,वृष- कष्टकारी,मिथुन-स्त्री कष्ट, कर्क- सुख,सिंह-चिन्ता,कन्या-व्यथा,तुलाराशि- धनवान,वृश्चिक-क्षति, धनु घात,मकर-हानि,कुंभ-लाभ,मीण-सुखद कारी साबित होंगे।

आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *