Sat. Oct 19th, 2019

हरियाणा में इंडो–नेपाल हिन्दी विमर्श समारोह, डा.श्वेता दीप्ति सम्मानित (फोटो फीचर सहित)

नारनौल,  हरियाणा | हरिणाम में मनुमुक्त मानव मेमोरियल ट्रस्ट नारनौल हरियाणा द्वारा हिन्दी दिवस के अवसर पर इंडो–नेपाल हिन्दी विमर्श एवं पुरस्कार समारोह आयोजित किया गया । उक्त कार्यक्रम में हिन्दी भाषा के सम्वद्र्धन एवं प्रवद्र्धन से संबंधित व्यक्तित्व को सम्मानित एवं पुरस्कृत किया गया । कार्यक्रम का संयोजन ट्रस्ट के चीफ ट्रस्टी डा. रामनिवास मानव जी के संयोजकत्व में हुआ । कार्यक्रम की अध्यक्षता डा. उमाशंकर यादव, पूर्वकुलपति (सिंहानिया वि.सी. राजस्थान) ने की । कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रुप में हरियाणा कला परिषद् गुरुग्राम के निदेशक महेश जोशी जी की उपस्थिति थी । कार्यक्रम के विशिष्ठ अतिथि नागरी लिपी परिषद् नई दिल्ली के राष्ट्रीय अध्यक्ष डा. परमानन्द पंचाल थे ।
इंडो–नेपाल हिन्दी विमर्श के मुख्य वक्ता अलीगढ उत्तर प्रदेश के डा. पशुपतिनाथ उपाध्याय, जबलपुर मध्यप्रदेश से डा. राकेश भ्रमर, भिवानी हरियाण के डा. बाबुराम महला, राजस्थान के डा. सुमेरु सिंह यादव थे । जिन्हें सम्मानित एवं पुरस्कृत किया गया, उनके नाम इस प्रकार है– डा. श्वेता दीप्ति (काठमांडू, नेपाल), डा. परमानन्द पंचाल (नई दिल्ली) डा. हुंदराज बलवाणी (अहमदाबाद, गुजरात), डा. जोरम अनिया ताना (इटानगर अरुणाचल प्रदेश), डा. तसलीम बानु (चेन्नाई), डा. श्रावणी भट्टाचार्य (तामिलनाडु) । आप सभी को अंगवस्त्र, सम्मानपत्र, स्मृतिचिन्ह तथा ग्यारह–ग्यारह हजार की पुरस्कार राशि देकर सम्मानित किया गया । कार्यक्रम में नेपाल के हिन्दी साहित्य एवं साहित्यकार तथा अहिन्दी भाषी क्षेत्र में हिन्दी की अवस्था पर चर्चा की गई । तमिलनाडू तथा केरल जैसी जगहों पर हिन्दी कि स्थिति पर माना गया कि जनता हिन्दी चाहती है, क्योंकि उन्हें देश–विदेश में रोजगार करने और सम्पर्क हेतु हिन्दी की आवश्यकता पड़ती है । हिन्दी को रोजगार की भाषा बनाने पर विशेष बल दिया गया । इस अवसर पर नेपाल से प्रकाशित हिंदी पत्रिका हिमालिनी भी लोगों को समर्पित किया गया | कार्यक्रम मानुमुक्त मानव की दिवंगत आत्मा (आईपीएस) को भावपूर्ण श्रद्धांजलि अर्पित कर समाप्त हुआ ।

आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *