Sun. Nov 18th, 2018

क्या सीके राउत को भारत के कहने पर गिरफ्तार किया गया है ? अब्दुल खान

नेपालगंज | क्या सीके राउत को भारत के कहने पर गिरफ्तार किया गया है ? या फिर कोई भारत के प्रति धायानाकर्षण करने के लिए कुटिल चाल चली जा रही है ? नेपाल की मिडिया में प्रकाशित कुछ खबर का ठोस प्रमाण अभी तक नही मिल पाया है | लेकिन इतना तो जरुर कहा जा रहा है कि इसके पीछे कोई छिपी हुई शक्ति जरुर है जो इस तरह के समाचार से लाभ उठाना चाह रहा है |

 

 


अक्टुबर २९ ,२०१८ में नेपाली टाईम १७:२६ मिनट में WWW.Onlinekhabar.com में प्रकाशित खबर में उल्लेख है कि डा. सि के राउत मधेश नेपाल से अलग करने की सक्रिय भुमिका में दिखने के कारण भारत का ध्यानकर्षित हुआ है | उसके अनुसार डा. राउत की गतिविधि पर भारत ने अापत्ती प्रकट करने के बाद उन्हें नेपाल सरकार ने गिरफ्तार किया है | अनलाई खबर के मुताविक डा. राउत काे गिरफ्तार कराने मे भारत सरकार ने नेपाल सरकार काे दवाब दिया है। उसी खबर मे डा. राउत काे भारत सरकार की तरफ से ही खतरा हाेने की बात भी कही गयी है तथा उन की सुरक्षा हेतु हिरासत मे लिया गया है। उसी अनलाईन मे सीमापार से लाेग अाकर मधेश मे गाेली मारने का भारत सरकार पर गम्भीर अाराेप भी लगाया गया है।

 


इस खबर का स्राेत खुलकर नही बताया गया है। इस सम्बन्ध में स्वतन्त्र मधेश गठबन्धन ने स्पष्ट कह दिया है कि यह भारत को बदनाम करने की एक चाल है | स्वतन्त्र मधेश गठबन्धन ने प्रेस विज्ञप्ति के जरिये कहा है कि इन सारी बाताें की तथ्यगत जानकारी अनलाईन खबर अाैर दोनों सरकार को देनी चाहिए | इसमें आगे कहा गया है कि मधेश अाैर भारत का सम्बन्ध धार्मिक, सांस्कृतिक , राजनीतिक, भाैगाेलिक रुप से बहुत गहरा है पर नेपाल की असली राष्ट्रीयता भारत काे गाली देने में ही माना जाता है अाैर मधेशियाें का सम्बन्ध बिगाडना नेपाली मिडिया की कुटिल चाल सदा से हाेती अाई है, इस विषय पर स्वतन्त्र मधेश गठबन्धन का ध्यानाकर्षण हुआ है।

 

आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.

Leave a Reply

avatar
  Subscribe  
Notify of