Tue. Dec 11th, 2018

देवी माँ दुर्गा की पूजा कैसे करें ?

हिमालिनी, अंक अक्टूबर 2018 । नवरात्रि के साथ ही हमारे मन में ये सवाल आते हैं कि माँ दुर्गे की पुजा कैसे करें । इसके साथ ही हम जानेंगे देवी दुर्गा की पूजा कैसे करते हैं ? आज हम चर्चा करेंगे कि आप अपने घर में देवी दुर्गा की पूजा कैसे कर सकते हैं ?
आप मूर्ति और साथ ही देवी दुर्गा की तस्वीर भी इस्तेमाल कर सकते हैं । आपको पहला ध्यान रखना चाहिए कि आपको भगवान गणेश भगवान की पूजा सर्व प्रथम करनी चाहिए । वह हिंदू धर्म में पूजा करने वाले पहले देवता होने के लिए धन्य हैं । देवी दुर्गा पूजा सामान्य रूप से बहुत जटिल मानी जाती है और यही वजह है कि यह आम तौर पर समुदाय या मंदिरों में किया जाता है । घर पर आम तौर पर आपको एक पुजारी की आवश्यकता होती है ।
नवरात्रि के दौरान देवी दुर्गा की पूजा करना अच्छा है नवरात्रि से भी आप देवी दुर्गा की पूजा कर सकते हैं । यह कहा जाता है कि देवी दुर्गा जीवन के सभी पहलुओं में हमें दिव्य ऊर्जा से आशीर्वाद देने के अलावा हमारे जीवन में राहु और केतु की समस्या से निपटने में मदद कर सकते ह ैं ।
नवरात्रि तिथि १० अक्टुवर
इस वर्ष यानी नवरात्रि १० अक्टुबर से शुरू होगा । पहले के दिनों में आम तौर पर लोग इस पूजा को घर पर ही करते थे, हालांकि आजकल वे या तो मंदिर या समुदाय को पसंद करते हैं क्योंकि यह थोड़ा विस्तृत है । फिर भी कई लोग इसे अपने घरों में करना पसंद करते हैं और नीचे उल्लिखित मदों की पूरी सूची की आवश्यकता होगी
दुर्गा सप्तशती पाठ
दुर्गा सप्तशती पाठ एक राजा की कहानी है जिसने अपने पूरे राज्य को खो दिया है । राजा का दिल टूट गया था और वह अपने राज्य को जीतने के लिए चाहता था । वह ऋषि मेधा से मिले ऋषि ने उन्हें बताया कि वह देवी दुर्गा की पूजा करते हैं क्योंकि वह ब्रह्मांड की मां हैं और सबसे शक्तिशाली राजा को दुर्गा माँ के बारे में क्या बताया था ऋषि मेघा ने इसके बाद देवी दुर्गा से आशीर्वाद के साथ वह अपने राज्य को जीतने में सक्षम हो गए थे । यह दुर्गा सप्तसती पूजा का सबसे महत्वपूर्ण पहलू माना जाता है ।
पूजन हेतु आवश्यक सामग्री
आपको पुजारी से परामर्श करना चाहिए और तय करना चाहिए कि आपको देवी दुर्गा पूजा को कब करना चाहिए । वह आपको सही समय बताएगा दुर्गा पूजा शुरू करने से पहले निम्नलिखित वस्तुओं को तैयार करना चाहिए ः
१. सिंदूर या कुमकुम
२. पांच विभिन्न रंगों का पाउडर
३. हल्दी
४. चावल
५. कुसुम फूल
६. देवी की आरती को जलाया जाने वाला नारियल फाइबर
७. बेल पेटा
८. पांच प्रकार के वृक्ष पत्ते (आम, अंजीर, बरगद, बीटेल, पाक)
९. पांच प्रकार के रत्न शामिल हैं (सोने, हीरा, नीलमणि, रूबी और मोती)
१०. पांच प्रकार की वृक्ष की छाल (जाम, शिमूल, बेरला, कुल और बोकुल)
११. ग्रीन नारियल
१२. कुशा से बना रिंगों
१३. कपड़ा जो बर्तन पर रखा जाता है
१४. भगवान विष्णु के लिए एक धोती
१५. पूजा और छाया मार्ग के लिए एक साड़ी
१६. चंद्रमाला
१७. जूट और घास का गद्दे पुजारी बैठने के लिए
१८. एक दर्पण
१९. चार तीर
२०. आपको स्नान के लिए उचित व्यवस्था करने की आवश्यकता है इसमें चंदन लकड़ी के पेस्ट और पानी शामिल हैं
२१. आपको भोग प्रसाद के लिए उचित व्यवस्था भी करनी चाहिए कि आप देवी दुर्गा को भेंट करेंगे । यदि आप नवरात्रि के नौ दिनों के लिए देवी की पूजा कर रहे हैं तो आपको अलग अलग दिनों के लिए अलग भोग बनाना चाहिए ।
२२. वस्तुओं को दैनिक आधार पर व्यवस्थित करने की आवश्यकता है । कुछ दिनों में उन्हें कुछ और वस्तुओं की व्यवस्था करने की आवश्यकता हो सकती है और कुछ दिन नहीं ।
२३. बहुत सारे ताजे फूलों की जÞरूरत होती है देवी दुर्गा पूजा में लोटस होना आवश्यक है
२४. शंख गोले
२५. घी
२६. चीनी
२७. पांच प्रकार का फल
२८. एक मिट्टी का बर्तन जिस पर हरी नारियल रखा गया है ।
२९. दूध
३०. पश्चिम बंगाल में गामा (लाल और सफेद कपड़े) अधिक आम है
३१. सफेद सरसों का बीज
३२. देवी की मूर्ति को उड़ाने के लिए उड़ना
३३. बहुत सारी लैंप
३४. दीपक के लिए तेल
३५. पीले धागे
३६. लाल आल्टा (एक लाल रंग जो देवी के पैरों पर लागू होता है)
३७. दरबा घास
३८. इत्र
३९. तुलसी पत्तियां
४०. धूप की छड़ें
४१. दही
४२. आपको पुजारी के लिए कुछ उपहार भी देना चाहिए
४३. देवी की अंगूठी को अवश्य देवी दुर्गा को पेश किया जाना चाहिए ।
४४. जूट रस्सियां
४५. हनी
४६. गंगा नदी के किनारे से मिट्टी
४७. चावल से भरी एक छोटी कटोरी जो बर्तन के ऊपर रखी गई है ।
४८. आपको देवी दुर्गा को भोजन देने के लिए एक स्वच्छ प्लेट का उपयोग करना चाहिए । यह एक ऐसा प्लेट होना चाहिए जिसका उपयोग केवल पूजा के लिए किया जाता है ।
४९. काजल
अलग पूजा प्रत्येक दिन
दुर्गा पूजा का प्रत्येक दिन पूजा की एक अलग शैली का प्रदर्शन किया जाता है । शाम को सती और पार्वती की कहानी पढ़ी जाती है ताकि पूजा में भाग लेने वाले लोग आशीर्वाद पा सकें ।
जब आप ऊपर बताए गए सभी आइटम तैयार करते हैं तो आप देवी दुर्गा पूजा कर सकते हैं । यह सूची बहुत लंबी है इसलिए आपको जल्द से जल्द व्यवस्था करने का प्रयास करना चाहिए । यह सूची जो हमने प्रदान की है, उन सभी के लिए एक अच्छी सूची बन सकती है जो देवी दुर्गा पूजा करने की योजना बना रहे हैं । हमें उम्मीद है कि यह आपको देवी दुर्गा पूजा को बेहतर और कम परेशानियों के साथ करने में मदद करेगा । नवरात्रि के नौ रातों का आनंद लें और दुर्गा पूजा का जश्न मनाएं ।

आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.

Leave a Reply

avatar
  Subscribe  
Notify of