Sat. Apr 20th, 2019

हिमालिनी द्वारा भारत के ५२ वरिष्ठ नागरिकों का स्वागत एवं पुस्तक परिचर्चा २७फरवरी को आयोजित

radheshyam-money-transfer

हिमालिनी द्वारा पंडित तिलकराज शर्मा वरिष्ठ नागरिक मनोरंजन केन्द्र के सदस्यों का स्वागत एवं अभिनंदन कार्यक्रम

 

हिमालिनी, वर्ष २२, अंक-२, फरवरी २०१९ | मनु स्मृति में लिखा है कि ‘‘अभिवादन शीलस्य नित्यम् वृद्धोपसेविनस । चत्वारि तस्य वर्धन्ते आयुर्विधा यशोबलम् ।। अर्थात् जो लोग वृद्धों की सेवा करते हैं उनकी आयु, विद्या, यश और बल चार चीजों में उत्तरोत्तर वृद्धि होती है । भगवान बुद्ध कहते हैं ‘संसार दुःखमय है और दुःख का कारण है ‘तृष्णा’, पर उम्र के साथ तृष्णाएं कम होने लगती तो दुःख कम हो जाता है ।’ लेकिन हो इसका उल्टा रहा है बुजुर्ग जितने दुःखी और पीड़ित हैं उतना शायद ही वे कभी अपनी जिंदगी में रहे होंगे । तनाव के कारण परिवार टूट रहे हैं, आधुनिकता की अंधी दौड़ जारी है, पश्चिमी देशों का अंधानुकरण तेजी से हो रहा, दुनिया मंहगी होती जा रही है । ऐसे में एक छोटे वर्ग को छोड़कर शहरों और महानगरों में अपने बुजुर्गों को पास रखने के लिए अधिकांश घरों में एक अलग कमरा तक नहीं है । गांवों के हालात ऐसे हैं कि स्वास्थ्य सेवाओं के अभाव के कारण बुढ़ापा नरक बन जाता है । इसलिए जिंदगी की यह शाम जिस शांति से बीतनी चाहिए थी रोते सिसकते बीतती है । आज के इस वातावरण में बुजुर्गों की उपेक्षा को ज्वलंत प्रश्न मानकर इसपर चर्चा आवश्यक है । अपने जीवन का हर पल परिवार, बच्चों के लिए कुर्बान करने वाले हमारे वृद्धजन, आज कतरे भर खुशी के लिए तरसते, सिसकते दिखाई देते हैं । प्यार और मोह का यह खेल सदियों से चला आ रहा है । आखिर क्यों ऐसा होता है क्यों हम उन्हें ही पराया कर देते हैं जिनका जीवन हमारे लिए ही था ? इस बदलते दौर में तिलकराज शर्मा मेमोरियल ट्रस्ट के सौजन्य से एक पहल करने जा रहे हैं हम, हिमालिनी नेपाल यात्रा में आ रहे सम्मानित वरिष्ठ सदस्यों का स्वागत और अभिनन्दन २७ फरवरी को करने जा रही है । इस अवसर पर नेपाल के भी जेष्ठ नागरिक का अभिनन्दन किया जायेगा |

१. श्री धर्मपाल गुप्ता
२. श्री प्रेमलाल गुप्ता
३. श्री भीमराज शेखावत
४. श्री मूलचन्द गुप्ता
५. श्री रामलाल मित्तल
६. श्री महावीरसिंह शर्मा
७. श्री नत्थुराम
८. श्री जगदिश प्रसाद गुप्ता
९. श्री श्यामसुन्दर सेठ
१०. श्री सुरेन्द्र कुमार अग्रवाल
११. श्री वेदप्रकाश गुप्ता
१२. श्रीमती नीरु गुप्ता
१३. श्री नरेन्द्र प्रकाश गुप्ता
१४. श्री वीरेन्द्र सिंह
१५. श्रीमती शीला देवी
१६. श्री मुन्नी देवी
१७. श्री सन्तोष यादव
१८. श्रीमती पुष्पा शुक्ला
१९. श्री अरुण कुमार गुप्ता
२०. श्रीमती विजयलक्ष्मी गुप्ता
२१. श्री ओमदत्त शर्मा
२२. श्रीमती कुसुम लता शर्मा
२३. श्री शक्तिकुमार शर्मा
२४. श्री वीरेंद्र कुमार बंसल
२५. श्रीमती लता बंसल
२६. श्री गंगाशरण शर्मा
२७. श्री मधु शर्मा

२८. श्री चिन्तराम शर्मा
२९. श्रीमती नीलम शर्मा
३०. श्री राजेन्द्र प्रसाद गुप्ता
३१. श्री रोशन लाल अग्रवाल
३२. श्रीमती वीना अग्रवाल
३३. श्री राज गुप्ता
३४ श्री पुष्पा देवी
३५. श्री मुकेश कुमार
३६. श्री घनश्यामदास गर्ग
३७. श्रीमती सुषमा गर्ग
३८ श्री सतपाल ककड़
३९ श्रीमती उषा ककड़
४० श्री रमेश ग्रोवर
४१ श्री सन्तोष ग्रोवर
४२. श्री जयचन्द
४३. श्रीमती सुदेश रानी
४४. श्री मनोहर लाल
४५. श्री रामकरण शर्मा
४६. श्री राजबाला शर्मा
४७. श्री नारायणसिंह शर्मा
४८. श्री चन्द्रकान्त शर्मा
४९ श्री ललित मित्तल
५०. श्रीमती लता मित्तल
५१. श्री कृष्ण कुमार शर्मा
५२. श्रीमती अनिता शर्मा
५३. श्री देव नारायण शर्मा (वरिष्ठ साहित्यकार)

आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.

Leave a Reply

avatar
  Subscribe  
Notify of