Tue. Dec 11th, 2018

चीनी जो रखे मधुमेह को दूर !-डा. रामदेव पंडित

हिमालिनी अंक सितम्बर २०१८ | सभी ने ऐसा ही सुना हैं कि चीनी मधुमेह वालों को वर्जित किया जाता है । पर कुदरत के करिश्मा ने हमें एक ऐसा भी चीनी दिया है जिसे मधुमेह को दूर करने के लिये अगर रोज उपयोग करें तो फायदा मिलेगा । वो चीनी है दालचीनी । दालचीनी का फायदा ही फायदा है केवल इसे कैसे उपयोग किया जाय यह सीखना आवश्यक है । रोगियों को चिकित्सक की सलाह से ही नियमित रूप से इसका प्रयोग करना चाहिए ।
दालचीनी प्राय सभी के रसोइघर में दैनिक प्रयोग होनेवाला मसाला है पर ये केवल मसाला ही नहीं दवा भी है । भोजन को स्वादिष्ट बनाने के लिए प्रयोग किए जानेवाला यह मसाला स्वास्थ्य के दृष्टिकोण से भी अत्यन्त उपयोगी माना जाता है ।
आयुर्वेद के मत में दालचीनी लघु, उष्ण (गर्म प्रकृतिका), तीखी, मधुर, कटी, रुक्ष और पित्तकारक होता है । यह बलगम, खुजली, अमाहर और अरुचिनाशक होता है । सभी प्रकार के दोष को दूर करता है । धातु पुष्टि, पागलपन, सिर दर्द, सर्दी और सूजन को ठीक करता है । ये केवल मसाला ही नही बल्कि दालचीनी साबुन, दन्तमंजन, चॉकलेट, उडनशील सुगन्धी लेत, आदि बहुरूप मे प्रयुक्त होता है । दालचीनी वातहर, कफनाशक, संकोचक, स्तम्भक, कीटाणुनाशक, एन्टी इमिटिक, दिपन, पाचक, उदर वायुहर, कृमिनाशक, गन्धहर, मूत्रस्रावक, हृदयशक्तिवर्धक, यकृत उत्तेजक, शुक्र तथा ओजवर्धक आदि गुण होता है । साथ ही अतिसार और क्षयरोग नाशक होता है ।
एन्टीएजिंग तत्व, एंटीसेपिटक, एंटीफंगल और एंटी वायरल होता है । इनफ्लुएंजा, मलेरिया, आदि मे दालचीनी गुणकारी होता है । दालचीनी का नियमित प्रयोग मौसमी बीमारियों को दूर रखता है । दालचीनी और शहद के मिश्रण को सोने पर सुहागा कहा जाता है ।
इसको दूध मे मिश्रण करके रात के समय नियमित सेवन करने से स्वास्थ्य मे बहुत ही ज्यादा फायदा होता है । इसके लिए सुबह शाम दूध के साथ दो ग्राम दालचीनी पाउडर का सेवन करें । इससे यौन शक्ति में बढावा होगा और शरीर भी सौष्ठव होगा ।
जो लोग मोटापे से परेशान हैं उनके लिए दालचीनी बहुत फायदेमंद है । चाय में एक चम्मच दालचीनी मिलाकर पीने से मोटापे से निजात मिलती है । इसके अलावा कोलेस्ट्रॉल को कम करने के लिए आधा लीटर गुनगुने पानी में दो चम्मच शहद में एक चम्मच दालचीनी मिलाकर पिएं । दिन में तीन बार अगर इसे लेते हैं तो आपको जल्द ही फर्क महसूस होगा ।
सम्यक नीन्द के लिए ः अगर आपको समय से नींद नहीं आने की समस्या है तो दालचीनी को दूध मे मिलाकर खाने से चमत्कारिक फायदा मिलता है । दालचीनी में पाए जाने वाले अमीनो एसिड से दिमाग को शान्त रखने में मदद मिलता है । इससे निद्रा सम्बन्धी समस्याओं का समाधान होता है । गरम दूध शरीर का थकान और तनाव को हटाता है साथ हीे मांसपेशियों तथा नसाें को भी आराम कराता है । दुध और दालचीनी के सेवन से दिमाग को चुस्त रखना तथा सकारात्मक सोच बनाने में मदद मिलता है । इस नुस्खे से सर दर्द की समस्या में राहत मिलती है । साथ ही मानसिक शान्ति भी प्रदान करता है । मन को प्रसन्न करता है । और स्मरण शत्ति में भी असाधारण रूप से वृद्धि होती है ।
त्वचा एवं केश के लिए ः दालचीनी और दूध पीने से त्वचा सम्बन्धी लगभग सभी प्रकार की समस्या का समाधान होता है । इसमे पाये जानेवाला एन्टी ब्याक्ट्रीयल गुण से त्वचा रोग तथा एलर्जी से मुक्ति मिलती है । दुध और दालचीनी के सेवन से केश सम्बन्धी समस्याओं मे राहत मिलती है । केश पतला होना, झड़ना, कड़ा होना, आदि समस्या के समाधान के लिये दालचीनी को दूध के अलावा शहद के साथ भी सेवन करने से अनोखा फायदा मिलता है । दालचीनी पाउडर में नींबू का रस मिलाकर लगाने से मुंहासे व ब्लैकहैड्स दूर होते हैं ।
पीड़ा से मुत्ति ः शारीरिक व्यायाम के समय नशा तन कर वा अन्य किसी कारण से होनेवाली पीड़ा में दालचीनी को दूध में मिलाकर खाने से पीड़ा कम होती है । एक कप गरम दूध में आधा चम्चा दालचीनी का पाउडर मिलाकर खाने से लाभ मिलता है । इसमे स्वाद के लिये शहद का प्रयोग किया जा सकता है । इससे शरीर का रक्तसञ्चार नियमित बनता है तथा प्रतिरक्षा प्रणाली को भी सशक्त बनाने के लिये मदद मिलती है । मुँह से बदबू आने पर दालचीनी का छोटा टुकड़ा चुसने से ये अच्छी माउथ प्रेस्नर का काम करता है ।
मधुमेह से बचाता है ः दालचीनी को गरीब का इन्सुलिन भी कहा जाता है । इससे शरीर में रक्त सञ्चार नियन्त्रित रहता है । मधुमेह सम्बन्धी समस्यायें ना हुए व्यक्ति को मधुमेह होने से रोकता है । विशेषकर टाइप–२ मधुमेह का रोगियो के लिये ये अत्यन्त उपयोगी होता है ।
हड्डी के लिये ःदालचीनी में फाईबर, क्याल्शियम तथा म्यागनीज आदि खनिज तत्व मिलता है । ये सभी तत्व शरीर को बलिष्ठ बनाने में मदद करता है । विशेषज्ञौं के मुताविक हड्डी को बलिष्ठ बनाने के लिये लोग वर्षों से दालचीनी और दूध का सेवन कर रहे हैं । इसके नियमित सेवन करने से शरीर का गाँठ की समस्या भी ठीक होती है ।
ऐलोपैथिक दवाओं के साथ भी इसका इस्तेमाल किया जा सकता है । दाल चीनी का अधिक मात्रा में सेवन करना हानिकारक होता है । सावधानीः अत्याधिक सेवन से लिभर में खराबी होती है ।
कुछ उपयोगी नुस्खेः
– गंजेपन से छुटकारा पाने के लिए गरम जैतून के तेल में एक चम्मच शहद और एक चम्मच दालचीनी पाउडर का पेष्ट बनाए । नहाने से पहले इस पेष्ट को सिर पर लगाा लें । १० मिनट के बाद बाल गरम पानी से घो लें ।
– एक चम्मच दालचीनी पाउडर और पांच चम्मच शहद मिलाकर बनाए गए पेस्ट को दांत के दर्द वाली जगह पर लगाने से फौरन राहत मिलती है ।
– करीब आधा लीटर चाय में तीन चम्मच शहद और तीन चम्मच दालचीनी मिलाकर पीएं । दो घंटे के भीतर रक्त में कोलेस्ट्राल का स्तर १० फीसदी तक घट जाता है ।
– सर्दी जुकाम हो तो एक चम्मच शहद में एक चौथाई चम्मच दालचीनी पाउडर मिलाकर दिन में तीन बार खाएं । पुराने कफ और सर्दी में भी राहत मिलेगी ।
-ऐसी महिलाएं जो गर्भधारण नहीं कर पाती है उन्हें एक चम्मच शहद में चुटकी भर दालचीनी पाउडर मिलाकर मसूढों (टीथगम) पर लगाने के लिए कहा जाता है ।
– रोजाना शहद और दालचीनी पाउडर का सेवन करने से प्रतिरक्षा तंत्र मजबूत होता है और आप वाइरस या बैक्टीरिया के संक्रमण से भी बचे रहते हैं ।
– तीन कप पानी में चार चम्मच शहद और एक चम्मच दालचीनी पाउडर मिलाया चाय बनाने जाता है । इसे रोजाना तीन बार आधा कप पीने आयु लम्बी होनी की मान्यता है ।
– खाली पेट रोजाना सुबह एक कप गरम पानी में शहद और दालचीनी पाउडर मिलाकर पीने से फैट कम होता है और वजन घटता है ।

आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.

Leave a Reply

avatar
  Subscribe  
Notify of