Sat. Apr 20th, 2019

सबसे अधिक सुविधा लेनेवाले पदाधिकारी प्रदेश नं. २ में, अनावश्यक अधिक खर्च भी यहीं

radheshyam-money-transfer

जनकपुरधाम, १५ अप्रील । जननिर्वाचित पदाधिकारी को सरकारी कोष से सबसे अधिक सेवा सुविधा प्रदान करनेवाले प्रदेशों में प्रदेश नं. २ सबसे आगे दिखाई दिया है । हाल ही में सार्वजनिक महालेखा परीक्षक की प्रतिवेदन से यह बात सामने आया है । प्रतिवेदन अनुसार प्रदेशसभा सभामुख, उप–सभामुख तथा सदस्य (पदाधिकारी) की सेवा, सुविधा और पारिश्रमिक अन्य प्रदेशों की तुलना में प्रदेश नं. २ में सबसे अधिक है ।
प्रदेश नं. २ ने सभामुख को २ गाडी, मासिक २७५ लिटर इन्धन दिया है । अन्य बांकी ६ प्रदेशों में वही पद में रहे व्यक्तित्व को एक सवारी साधन और मासिक १५० लिटर इन्धन मिलता है । इसीतर अतिथि सत्कार के लिए प्रदेश सभामुख को जो रकम मिलती है, उसमें भी प्रदेश नं. २ को सबसे अधिक (१८ हजार मासिक) है । मन्त्री, राज्य मन्त्री और सहायक मन्त्री की पारिश्रमिक भी अन्य प्रदेशों की तुलना में यहां सबसे अधिक है । प्रदेश नं. २ के मन्त्रियों की मासिक पारिश्रमिक ५७ हजार ७८० रुपैयां है और राज्य मन्त्री को ५६ हजार ४९० रुपैयां और सहायक मन्त्री को ५३ हजार मासिक पारिश्रमिक मिलती है ।
सिर्फ पदाधिकारी खर्च ही नहीं, अन्य प्रदेशों की तुलना में अनावश्यक खर्च में भी प्रदेश नं. २ सबसे आगे दिखाई दिया है । इस प्रदेश में ६९ करोड ४३ लाख ९५ हजार की लेखा परीक्षण हुई थी, जिसमें १६ करोड ९ हजार रुपैयां बेरुजु दिखाई दी है । प्रदेश नं. १ में २ करोड २३ लाख ४२ हजार रुपैया बेरुजु है । सबसे कम बेरुजु कर्णाली प्रदेश में १ लाख ७७ हजार है ।

आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.

Leave a Reply

avatar
  Subscribe  
Notify of