Sun. Mar 17th, 2019

हिमालिनी पत्रिका

हमें भ्रष्टाचार मुक्त राष्ट्र बनाना होगा : चन्दा चौधरी

हिमालिनी, अंक फेब्रुअरी 2019 |नेपाल मे लोकतन्त्र आए हुए दशक गुजर चुके हैं । परन्तु देश

धर्म जीवन को संयमित करता है : श्वेता दीप्ति

एकवर्णं यथा दुग्धं भिन्नवर्णासु धेनुषु । तथैव धर्मवैचित्त्यं तत्वमेकं परं स्मृतम् ।। आकाशात् पतितं तोयं यथा गच्छति

हिमालिनी द्वारा भारत के ५२ वरिष्ठ नागरिकों का स्वागत एवं पुस्तक परिचर्चा २७फरवरी को आयोजित

हिमालिनी द्वारा पंडित तिलकराज शर्मा वरिष्ठ नागरिक मनोरंजन केन्द्र के सदस्यों का स्वागत एवं अभिनंदन

नेपाली पाठकों के लिए दूसरी सम्पर्क भाषा जैसी है हिन्दी : मनप्रसाद सुब्बा

हिमालिनी, अंक जनवरी 2019 |नेपाली भाषा और हिन्दी भाषा मे एक–आपस में सिर्फ सामीप्य ही नहीं

जन अपेक्षा अनुरुप सरकार आगे नहीं बढ सकी : पूर्व प.म. डा. बाबूराम भट्टराई

पोखरा – नयाँ शक्ति नेपाल का संयोजक एवं पूर्वप्रधानमन्त्री डा बाबुराम भट्टराई ने  कहा, जनअपेक्षा

पुनर्जन्म प्राप्त उतार–चढ़ावपूर्ण मेरा जीवन ! डा. रामदयाल राकेश

हिमालिनी, अंक जनवरी 2019 | शिक्षण और प्रशासनिक दोनों पेशे से जुड़े हुए चिर–परिचित व्यक्तित्व

काठमांडू उपत्यका की विशेषताएँ : प्रकाशप्रसाद उपाध्याय

हिमालिनी, अंक जनवरी 2019 | ऐतिहासिक या धार्मिक महत्व के दर्शनीय स्थलों की यात्रा मे

हमें गुलाब जैसा खिलने दो, मौन तुम्हारे चरणों में ः प्रेमाशाह

प्रसिद्ध साहित्यकार प्रेमा शाह की प्रथम पुण्य तिथि के अवसर पर प्रेमा शाह नेपाली साहित्य

विश्व हिंदी सम्मेलन, मॉरीशस विस्तृत रिपोर्ट : डा रघुवीर शर्मा

हिमालिनी, अंक जनवरी 2019 | भारत सरकार के विदेश मंत्रालय द्वारा मॉरीशस सरकार के सहयोग

हल्की हल्की बारिश की बूँदें गिरतीं, वो बैसाखी लिए आराम से चलती : सुरभि मिश्रा

उसकी याद हल्की हल्की बारिश की बूँदें गिरतीं वो बैसाखी लिए, आराम से चलती बैसाखी

नेपाली भाषा साहित्य और नेपाल में हिंदी की स्थिति : राजकुमार श्रेष्ठ

हिमालिनी, अंक जनवरी 2019 | युगों–युगों से लाखों सैलानियों को अपनी सुन्दरता से मुग्ध करने

रिपोर्ट, नेपाली हस्तकला – वैदेशिक मुद्रा आर्जन का एक माध्यम : लिलानाथ गौतम

हिमालिनी, अंक डिसेम्वर 2018,चालू आर्थिक वर्ष (वि.सं. २०७५–०७६) के चार महीने हो चुके हैं । व्यापार

मानव होने की जिम्मेदारी पूरी कर रही हूँ : भद्र कुमारी घले

    हिमालिनी, अंक डिसेम्वर 2018,पंचायती शासकाल के लिए एक चर्चित राजनीतिक कर्मी और समाजसेवी

बेटी वा बेटा, दोनों अपना खून, तो भेद कैसा : अंकिता सुमार्गी

हाइकु                                                                                                                                                                                                           अंकिता सुमार्गी आजका दिन करता है स्वागत आप सभी का बुद्धका देश हमारी मातृभूमि

‘जहाँ न पहुंचे कोई सरकार, वहां भी पहुंचे पत्रकार’ : एस.एस. डोगरा

पत्रकारिता और मैं हिमालिनी, अंक डिसेम्वर 2018, ‘जहाँ न पहुंचे कोई सरकार, वहां भी पहुंचे

हिंदी उर्वरा है, इसमें भाव प्रवणता है तथा व्याकरण से अनुशासित है : डा.श्वेता दीप्ति

सर्वग्राह्य हिन्दी भाषा को संवैधानिक दर्जा प्राप्त हो आज हिन्दी २२ देशों में करीब १००

नेपाल की राम कथा : भानुभक्त कृत रामायण

हिमालिनी, अंक डिसेम्वर 2018,नेपाल के राष्ट्रीय अभिलेखागार में वाल्मीकि रामायण की दो प्राचीन पांडुलिपियाँ सुरक्षित

मिथिला और देवघाट नेपाल भारत सम्बन्ध की अटूट कड़ी : डॉ. श्वेता दीप्ति

“अयोध्या मथुरा माया काशी काञ्ची अवन्तिका । पुरी द्वारावती चैप सप्तैता मोक्षदायिकाः ।।” गरुड़ पुराण के अनुसार

व्यापारी घराने का साहित्यिक चिराग ‘बसन्त चौधरी’ : रमण घिमिरे

हिमालिनी, दिसम्बर अंक २०१८ में प्रकाशित | विनम्र स्वभाव, भावुक मन और व्यवहार कवि बसन्त

शतायु कविवर घिमिरेः एक शब्दचित्र : डा. तुलसी भट्टराई

  यहाँ पर उनके ही शब्दों द्वारा अभिनन्दन किया जायः गाउँछ गीत नेपाली ज्योतिको पंख

नेपाली भाषा के आदिकवि भानुभक्त आचार्य : प्रियम्बदा काफ्ले

हिमालिनी, अंक डिसेम्वर 2018,नेपाली काव्य जगत् में भानुभक्त आचार्य को आदिकवि के रूप में जाना

प्रत्येक साहित्यकार अपने देश के अतीत से प्राप्त विरासत पर गर्व करता है : श्वेता दीप्ति

साहित्यसङ्गीतकलाविहीनः साक्षात्पशुः पुच्छविषाणहीनः हिमालिनी, अंक डिसेम्वर 2018, (सम्पादकीय ) भर्तृहरि नीतिशतक में कहा गया है

जीवन में जो प्राप्त है, वह पर्याप्त है : वीरेन्द्रप्रसाद मिश्र

हिमालिनी, अंक नोभेम्बर 2018,( जीवन–सन्दर्भ )   आप प्रा. डॉ. वीरेन्द्र प्रसाद मिश्र से पहली बार

पशुबलि हिन्दू सनातन धर्म एवं विश्व मानवता पर एक कलंक है : अजय कुमार झा

हिमालिनी, अंक नोभेम्बर 2018,आज हम इक्कीसवीं सदी के वैज्ञानिक युग में जी रहे हैं । तर्क,

बालीवूड आप के स्वागत के लिए हमेशा तैयार है : सञ्जय खतिवडा

हिमालिनी, अंक अक्टूबर 2018 सञ्जय खतिवडा नेपाली और भारतीय फिल्म जगत में अपना मुकाम हासिल करने

आहः प्रकृति हमें कितना देती है : श्वेता दीप्ति

हिमालिनी, अंक नोभेम्बर 2018, (सम्पादकीय ) हिन्दू धर्म या यूँ कहूँ कि सनातन हिन्दू धर्म

आयोडिन युक्त नमक अ‍ैर साल्ट ट्रेडिङ : ब्रजेश झा

हिमालिनी, अंक अक्टूबर 2018 ।वाणिज्य क्षेत्र में एक उत्कृष्ट संस्था के रूप में स्थापित है–

शनि अनिष्टकारक नहीं हैं श्रद्धा से करें पूजन हाेंगे सभी कष्ट दूर

नव ग्रहों में सातवें ग्रह माने जाने वाले शनिदेव से लोग सबसे ज्‍यादा डरते जरूर

सूर्योपासना का महान् पर्व – छठ पूजा : डा. श्वेता दीप्ति

डा. श्वेता दीप्ति, हिमालिनी अंक (नवम्बर २०१८) में प्रकाशित आलेख हिन्दू धर्म सनातन धर्म है, जो