Mon. Jun 17th, 2019

साहित्य

दोस्तो, हमने तो नेतागिरी करना छोड़ दिया है, आपकी आप जानें ! नाउ, नो मोर नेतागिरी 

प्रो.शरद नारायण खरे, (व्यंग्य) | जब हम स्कूल में पढ़ते थे, और एन.सी.सी में ट्रेनिंग

फ़ासला तो है मगर कोई फ़ासला नहीं मुझ से तुम जुदा सही दिल से तुम जुदा नहीं ~शमीम करहानी

  फ़ासले हमेशा बेचैनियां बढ़ाते हैं और शायरी के लिए एक वातावरण तैयार करते हैं।

जलेश्वर में डॉ राजेन्द्र विमल साहित्य एकेडमी द्वारा वृहद् साहित्य संगोष्ठी

आज 2075 चैत्र 16 गत्ते जलेश्वर स्थित जिल्ला विकाश के सभाकक्ष में डा.राजेन्द्र विमल साहित्य

डा. राणा की तलाश बेहतरीन अल्फाजों का मजमुआ है : वसन्त चौधरी

डा कृष्णजंग राणा रचित हिन्दी गजल संग्रह तलाश का आज हिमालिनी द्वारा आयोजित एक कार्यक्रम

तेरी आंखों की हद से बढ़कर हूं, दश्त मैं आग का समंदर हूँ : राहत इंदौरी

दिल मेरा तोड़ते हो, लो तोड़ो ​चीज मेरी नहीं, तुम्हारी है। डॉ. राहत इंदौरी उर्दू

लोकजीवन के उत्साह का पर्व है होली, ब्रज संस्कृति की संबाहक है होली : गोपाल शरण शर्मा

वृन्दावन,मथुरा | ब्रज की होली न सिर्फ भारत में बल्कि सम्पूर्ण विश्व में विख्यात है।लोक

मुंबई विश्वविद्यालय द्वारा “छायावाद एक पुनर्पाठ” विषय पर दो दिवसीय अंतरराष्ट्रीय संगोष्ठी

मुंबई विश्वविद्यालय के हिंदी विभाग ने दो दिवसीय अंतरराष्ट्रीय संगोष्ठी यही शुक्रवार और शनिवार 15-16

परिमल प्रवाह द्वारा हिंदी साहित्य समागम झारखंड में शुरू, नेपाल से डा.श्वेता दीप्ति सहभागी

झारखण्ड | साहित्यिक संस्था परिमल प्रवाह द्वारा आयोजित दो दिवसीय हिंदी साहित्य समागम शनिवार से

नेपाली पाठकों के लिए दूसरी सम्पर्क भाषा जैसी है हिन्दी : मनप्रसाद सुब्बा

हिमालिनी, अंक जनवरी 2019 |नेपाली भाषा और हिन्दी भाषा मे एक–आपस में सिर्फ सामीप्य ही नहीं

वरिष्ठ साहित्यकार एवं अन्वेषक शिव रेग्मी का ७८ वर्ष की आयु में निधन

काठमाडौँ  वरिष्ठ साहित्यकार एवं अन्वेषक शिव रेग्मी का ७८ वर्ष की आयु में २१ फरवरी

नहीं रहे हिन्दी आलाेचना के शिखर पुरुष नामवर सिंह

२० फरवरी हिंदी के प्रख्यात आलोचक और साहित्यकार नामवर सिंह का दिल्ली के एम्स अस्पताल

५ नं. प्रदेश स्तरीय भाषाभाषी स्रष्टा सम्मान, अन्तरक्रिया तथा बहुभाषिक कवि गोष्ठी

नेपालगन्ज÷(बा“के) पवन जायसवाल । विश्व भाषाभाषी दिवस २०७५ की अवसर पर ५ नं. प्रदेश स्तरीय