Fri. Nov 16th, 2018

हिमालिनी विशेष

मधेशी आवाम खुदी को वुलन्द करें, मधेश की पगड़ी निलामी नहीं होगी : मुरलीमनोहर तिवारी

  मुरलीमनोहर तिवारी (सीपु), बीरगंज,6 फरबरी । बिरगंज नाका का टेन्ट जला दिया गया। नाका

लालू से हुई मुलाकात को राष्ट्रीयता से जोड़ना अपनी नाकामयाबी छुपाना है : श्वेता दीप्ति

श्वेता दीप्ति, काठमांडू, ३ फरवरी २०१६ | एक मनोवैज्ञानिक सोच इंसान पर हमेशा हावी होती

ओली साहब ! निरंकुशता भी अपना सर झुकाती है, जब जनता खुद पर आ जाती है : श्वेता दीप्ति

श्वेता दीप्ति, काठमांडू ,३१,जनवरी | कुर्सी की दौड़ में सबसे आगे चल रहे खड्गप्रसाद ओली

चर्चा में महा गठबन्धन ! मधेश की जनता को संगठन चाहिए बिखराव नहीं : श्वेता दीप्ति

श्वेता दीप्ति, काठमांडू,२७,जनवरी | ‘देर आए दुरुस्त आए’ हमारे मधेशी नेता अगर चाहें तो मधेशी

मधेश आन्दोलन पर दिल्ली दरबार या सिंहदरबार किसी का जोर नहीं चलने वाला : श्वेता दीप्ति

श्वेता दीप्ति, काठमांडू,२० जनवरी | क्या सत्ता खुद चाहती है कि देश विखण्डित हो जाय

राजेन्द्र महतो पर हमला- मधेश के आन-बान-शान पर हमला है : मुरलीमनोहर तिवारी

मुरलीमनोहर तिवारी ( सिपु), वीरगंज,३ जनवरी | २०१५ में एशिया के पांच महत्वपूर्ण घटना में

राजेन्द्र महतो पर बर्बरता से लाठी बरसाई गई, अब बारी महन्थ और उपेन्द्र की : श्वेता दीप्ति

श्वेता दीप्ति, काठमांडू ,३० दिसम्बर | जब मधेश या मधेशियों को गाली देने का वक्त

सूचना …..हिन्दी केन्द्रीय विभाग में नामांकन हेतु सूचना

२६दिसिम्बर , कीर्तिपुर, काठमान्डौ | हिन्दी केन्द्रीय विभाग कीर्तिपुर, काठमान्डौ नेपाल में नामांकन हेतु सूचना

नेपाली मिडिया ने कसम खा ली है कि मधेश विरोधी समाचार ही सम्प्रेषित करेगी : श्वेता दीप्ति

श्वेता दीप्ति, काठमांडू, ९ दिसिम्बर | (भिडियो सहित सुषमा स्वराज, डा. करण सिंह, शरद यादव

भारत ने कोई नाकाबन्दी नहीं की है, नेपाल के जारी संविधान में तराई उपेक्षित है : सुषमा स्वराज

श्वेता दीप्ति , ३ डिसेम्बर २०१५ | भारतीय राज्यसभा में नेपाल भारत सम्बन्ध पर ध्यानाकर्षण

लालु के बड़बोलेपन का महत्व भारत में वही है जो ओली का नेपाल में है : श्वेता दीप्ति

श्वेता दीप्ति, काठमांडू,१ दिसम्बर ०१५ \ नेपाल की नीति समझ में नहीं आती है खासकर

नेपालियों ने विदेशों में मधेश को बदनाम करने का नया सूत्र खोजा है : सुजित कुमार झा

सुजित कुमार झा, अमेरिका , २८ नोभेम्बर | मामला हो आंतरिक प्रदर्शन विदेश में अपने

वार्ता के नाम पर खिलवाड़, ओलीजी को और भी आहूति की आकांक्षा है : श्वेता दीप्ति

श्वेता दीप्ति, काठमांडू, २६ नोभेम्बर | ओली सरकार अपने दूसरे महीने में भी सिर्फ बयानबाजी

मधेशविहीन संविधानसभा नई सत्ता के लिए सबसे बड़ी अग्निपरीक्षा है : श्वेता दीप्ति

श्वेता दीप्ति , काठमांडू,२० नोभेम्बर | यह राजनीति है, जहाँ सिर्फ कुर्सी, पद और शक्ति

प्रधानमंत्री जी! राष्ट्रवाद के नाम पर भिड़न्त की तैयारी ना करें, मधेश पर दृष्टि डालें : श्वेता दीप्ति

श्वेता दीप्ति, काठमांडू, ११, नोभेम्बर | चाहे जितने भी दावे हमारे सत्ताधारी नेताओं ने किया

वार्ता का ढोंग जारी है, मधेश चाहिए मधेशी नहीं-सत्ताधारियों की सोच : श्वेता दीप्ति

श्वेता दीप्ति, काठमांडू, २५ अक्टूबर | माना जाता है कि गेन्डे की खाल बहुत मोटी

बेहाल जनता और बेखबर शासक के बीच नेपाल का भविष्य हिचकोले खा रहाहै : श्वेता दीप्ति

श्वेता दीप्ति, काठमांडू , २१ अक्टूबर | अभावों और परेशानियों के बीच दशहरा समाप्ति की

अभी शहीदों के खून का रंग भी हल्का नहीं पड़ा, नेताओं ने अपना रंग दिखा दिया : मुरलीमनोहर तिवारी

मुरलीमनोहर तिवारी ( सिपु), बीरगंज , १७ अक्टूबर | शिकरी आएगा, जाल बिछाएगा, दाना डालेगा,

पहाड़ पर हावी चीनी सोच ने मधेश की माँग को भारत की माँग बना दी है : श्वेता दीप्ति

श्वेता दीप्ति, काठमांडू , ७ अक्टूबर | आखिर हमारे सर्वमान्य नेतागण क्या चाह रहे हैं

मधेश की खुशहाली पहाड़ी सत्ता के महलो में कैद है : मुरलीमनोहर तिवारी

मुरलीमनोहर तिवारी (सिपु), बीरगंज,३ अक्टूबर | सबसे लम्बा आंदोलन। बंद, कर्फ्यू, गोली, हत्या, वार्ता और

मधेश की जनता चीख चीखकर कह रही है, नाकाबन्दी हमने किया है भारत ने नही : श्वेता दीप्ति

श्वेता दीप्ति, काठमांडू ,३० सेप्टेम्बर | नफरत के बीज इतनी गहराई में मत बोओ कि

आप कहे तो भाषण, हम कहे तो गाली ? आपका खून- खून, हमारा बहे तो पानी ? मुरलीमनोहर तिवारी

मुरलीमनोहर तिवारी (सिपु), बीरगंज ,२६ सेप्टेम्बर | मधेश आंदोलन का काला सच यही है कि

भारत को गाली देने वाली जुवान मधेश के दर्द को क्यों नहीं देख रहे ?- श्वेता दीप्ति

श्वेता दीप्ति , काठमांडू , २३, सेप्टेम्बर | नेपाल के नवनिर्मित संविधान के जारी होने

सावधान ! मधेश हिंसक हुआ तो गोलिया कम पड़ जाएंगी, मधेशियों का सीना कम नहीं पड़ेगा : मुरलीमनोहर तिवारी

मुरलीमनोहर तिवारी (सिपु), बीरगंज, २२ सेप्टेम्बर | आंदोलन का छत्तीसवा दिन। छत्तीसो शहीद हुए। छत्तीस

क्या चीन का समर्थन और भारत की उपेक्षा कर ओली नए नेपाल का निर्माण कर पाएँगे ? श्वेता दीप्ति

श्वेता दीप्ति, काठमांडू, १९ सेप्टेम्बर | सेना सशस्त्र प्रहरी और प्रहरियों को बैरेक से निकालकर,

किस किस के सीने को छलनी करोगे ? सावधान ! खूनी संविधान का खेल जारी है : श्वेता दीप्ति

श्वेता दीप्ति ,काठमांडू,२२ भाद्र | सावधान ! खूनी संविधान का खेल जारी है । चाहें

कर्फ्यू लगने के बाद आगजनी कैसे हुई ? जबाब सरकार को देना पड़ेगा – मधेश विद्रोह-३

मुरलीमनोहर तिवारी (सिपु), बीरगंज, २९ अगस्त | मधेश विद्रोह-३ शुरू हो चूका है। अब तक

गच्छदार की नई रणनीति, फिर से तीन बड़े पार्टी के कित्ते मे जाने को बाध्य : कुमार अमरेन्द्र

काठमांडू,२४,अगस्त ,२०१५ |मधेशी मोर्चा के नेताओं के बीच अपनी दाल गलती असम्भव देखकर मधेशी जनअधिकार