Sun. Jan 19th, 2020

हमारी संस्कृति सभ्यता व परम्परा काफी मजबूत

  • 2
    Shares

माला मिश्रा बिराटनगर। नेपाल भारत मैत्री युवा संघ  इण्डो नेपाल मिथिलांचल जागृति मंच के संयुक्त तत्वावधान में आयोजित  दीपावली एवं छठ के शुभावसर शुभकामना आदान प्रदान कार्यक्रम में भारत एवं नेपाल के विभिन्न क्षेत्रों के यथा मंत्री, सांसद, विधायक, बुद्धिजीवी, सामाजिक व्यक्तित्व, राजनीतिज्ञ ,साहित्यकार के सान्निध्य में भारत नेपाल सीमा क्षेत्र के भंसार परिक्षेत्र में सम्पन्न हुआ।

सर्वप्रथम अतिथियों को माला, बैज,तथा मिथिलांचल की पहचान पाग पहनकर स्वागत किया गया।फिर अतिथियों द्वारा वृक्ष में पानी डालकर प्रकृति बचाने का सुंदर संदेश दिया।

कार्यक्रम की अध्यक्षता नेपाल भारत युवा मैत्री संघ के मोहम्मद नसरुल ने की । वही स्वागत मंतब्य मिथिलांचल जागृति मंच की संजोजिक  माला मिश्रा  ने दिया वही संचालन दिपिका बोहरा कर रही थी ।मुख्य अतिथि नेपाल सरकार में संघीय मामला तथा सामान्य प्रशासन के मंत्री लाल बाबू पंडित थे ।विशिष्ट अतिथि के रूप अररिया संसदीय क्षेत्र के सांसद प्रदीप कुमार सिंह, फारबिसगंज विधानसभा क्षेत्र के विधायक विद्यासागर केसरी उर्फ मंचन केसरी, नेपाल प्रदेश नम्बर एक सभासद जयराम यादव, मुख्य सचेतक केदार कार्की ,नेपाली काँग्रेस के जिला सदस्य राजेश गुप्ता, समाजसेवी व एनडीए नेता अजय झा, भाजपा नेता शशीनाथ मिश्रा ,मोरंग एसपी विश्व अधिकारी , पर्यटन क्षेत्र का भवेश श्रेष्ठ,  मैथिली सेवा समिति का अध्यक्ष डॉ एसएन झा , डॉ सुरेंद्र मिश्र, नप पूर्व उपाध्यक्ष नरेश प्रसाद ,  दिलीप धरेवा , मोहम्मद कादिर ,प्रवीण जोशी ,सरोज यादव ,भाजपा अररिया जिला उपाध्यक्ष मनोजझा,जोगबनी नगर भाजपा अध्यक्ष राजनंदन यादव, प्रधानाचार्य व जोगबनी साहित्य मंच के संयोजक प्रकाश चंद्र विश्वास, भानु प्रकाश राय,गणेश साहा, प्रबीन नारायण चौधरी , चांद इराकी, इरसाद अंसारी , अजय झा गुड्डू के अलाव  अन्य प्रबुद्धजन मौजूद  थे।

मुख्य अतिथि के रुप में मंत्री ने अपना उद्बोधन देते हुए भारत नेपाल  के अटूट संबंध पर किसी की बुरी निगाह नहीं पड़ने देने की अपनी प्रतिबद्धता दोहराई। खासतौर पर खुली सीमा से किसी राष्ट्र विरोधी ताकत को इस्तेमाल नहीं करने दिया जायेगा।उन्होंने कहा  आतंकबाद एक नासूर है। भारत के साथ साथ नेपाल भी आतंकबाद का विरोध करता है । नेपाल के जमीन पर कभी भी प्रश्रय व पनाह नही दिया जाएगा ।  भारत नेपाल के बीच प्रगाढ़ संबंध है , आगे भी इसमें बढ़ोतरी होगी । नेपाल के विकास में भारत का सहयोग मिलता रहा है और आगे भी मिलता रहेगा । उन्होंने कहा कोशी आनेवाला समय मे अभिशाप नही बरदान साबित होगा इसके लिए युद्ध स्तर पर काम हो रही है ।

अपने संबोधन में अररिया सांसद प्रदीप कुमार सिंह ने कहा कुछ बाहरी ताकत दोनों राष्ट्र के बीच में कटुता प्रदान कर अपनी रोटी सेंकना चाहती है, जिसे दोनों देशों की सरकार ने हमेशा से कुचलने का काम करती रही है और आगे भी करती रहेगी।सीमा पर ड्रग्स की चपेट में आनेवाली नई पीढ़ी को सावधान करते हुए राष्ट्र के विकास में अपना योगदान देने की अपील की।साथ ही बढ़ते नशीली दवाओं को अवैध रूप से बेचने वाले को कड़ी से कड़ी सजा दिलाने के लिए डीएम तथा एसपी से बात करने की बात कही।विधायक मंचन केसरी ने अपने संबोधन में कहा कि हमारा संबंध आज का नहीं बल्कि रामायण महाभारत काल से ही है और पांडवों का वनवास भी इसी बिराटनगर में रहा था।सीमा के आर पार में नशीली पदार्थों के सेवन तथा अवैध तरीक़े से बेचने की जानकारी होने की बात कही और यथाशीघ्र ही शासन प्रशासन स्तर पर निष्पादन की बात कही।सभासद जय राम यादव ने अपने संबोधन को मैथिली में करते हुए कहा अगर दोनों देशों की सरकार चाह भी ले हमारे संबंध को तोड़ने की, फिर भी हमारी संस्कृति सभ्यता, परम्परा इतनी मजबूत है, जो कभी टूट नहीं सकती।

कार्यक्रम को मुख्य सचेतक ने गंगा, काशी, कोशी,पर्वत,शिक्षा ,आदि हमें और एकता के सूत्र में जोड़ने के लिए मजबूर करता आ रहा है। उन्होंने बर्तमान सरकार को चाइनीज नीति से आगाह कराया ।नेता अजय झा ने रिश्ता की मजबूती का उदाहरण देते हुए कहा कि हमारी ससुराल नेपाल में है और नेपाल के लोगों की ससुराल भी भारत में है, यही रोटी बेटी के साथ को दर्शाता है।

इससे पहले सत्तार अंसारी ने भी कैसे भारत तथा नेपाल की आजादी में एक दूसरे की अहम भूमिका रही है।

कार्यक्रम को राजेश गुप्ता, राजकुमार यादव ने भी संबोधित कर कहा कि हमारा संबध अटूट है जो छोटी मोटी बातों पर खराब होने बाली नही ।

मिथिलांचल जागृति मंच की संयोजिका माला मिश्रा ने मैथिली में अपनी रुपरेखा प्रस्तुत करते हुए भारत सरकार से आग्रह की कि भारत तथा नेपाल  के मिथिलांचल क्षेत्रों के विकास में अहम  योगदान दें और माता जानकी तथा मर्यादा पुरुषोत्तम भगवान श्री राम का रिश्ता युगों युगों तक बरकरार रहे। उन्होंने नेपाल के राणाशाही शासन काल मे शाहिद हुए डॉ कुलदीप झा को शहीद का दर्जा का मांग की । कहा भारतीय स्वतंत्रता संग्राम में बीपी कोइराला का योगदान को नही भुलाया जा सकता है ।उन्होंने बिराटनगर मिल्स एरिया के कल कारखाना बंद होने पर चिंता जाहिर किया । अपने स्वागत मंतब्य में सीमा के बिभन्न समस्या को बारीकी से रखी ।

अंत में  धन्यवाद ज्ञापन के साथ मोहम्मद नसरुल कार्यक्रम समापन की घोषणा की।

Loading...

 
आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: