Mon. Feb 26th, 2024

अयाेध्या प्राणप्रतिष्ठा समारोह में भगवान राम के ससुराल में 25 लोगों को मिला निमंत्रण

काठमान्डू 3 जनवरी 24



अयोध्या में 22 जनवरी को होने वाले प्राण प्रतिष्ठा समारोह के लिए तैयारियां जोरों पर हैं. श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट की तरफ से इस समारोह के लिए कई गणमान्य लोगों को निमंत्रण पत्र भेजे गए हैं. इसी कड़ी में  भगवान राम के ससुराल नेपाल में भी 25 लोगों को निमंत्रण मिला है.

राम के ससुराल जनकपुरधाम के महंत सहित अधिकतर महंत को भी निमंत्रण दिया गया है जिनमें पशुपतिनाथ मंदिर के मूल पुजारी गणेश रावत,महंत तपेशवर दास, महंत राम रोशन दास, पूज्य स्वामी मोहन शरण देवाचार्य, स्वामी महायोगि कृष्ण दास, स्वामी नन्दकिशोर भारद्वाज, स्वामी चतुरभुजाचार्य का नाम शामिल है. इसके अलावा उद्योग जगत सह राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ से जुड़े बीरगंज के दो लोगों को भी निमंत्रण मिला है.

जनकपुर वासी बोले- 22 जनवरी को साथ मनाएंगे होली- दीवाली

रामलला के प्राण प्रतिष्ठा में नेपाल से जाने वाले एक महंत ने बताया की त्रेता युग में राम को 14 साल का वनवास हुआ, पर अब वर्षो के तप के बाद भगवान महल में विराजमान हो रहे है यह तो हमारा सौभाग्य है की इस क्षण के दर्शन पूजन का लाभ हमें मिल रहा है. महंत ने आगे बताया, ‘माता सीता के मायके जनकपुर वासी काफी दिनों से अपने दामाद के महल में विराजमान होने के लिए प्रार्थना कर रहे थे और उनका सपना अब साकार हो रहा है. इसे लेकर जनकपुर सहित पूरे नेपाल में उत्साह का माहौल है. सभी 22 जनवरी को दीपावली होली मनाने को लेकर उत्साहित है.’

राम मंदिर की प्राण प्रतिष्ठा के लिए भगवान राम के ससुराल नेपाल के जनकपुर से कपड़े, फल और मेवा के साथ-साथ उपहारों से सजे 1100 थाल भेजे जा रहे  हैं.  नेपाल से आभूषण, बर्तन, कपड़े और मिठाइयों के अलावा भार भी आएगा, जिसमें 51 प्रकार की मिठाइयां, दही, मक्खन और चांदी के बर्तन शामिल होंगे.

22 जनवरी को खास मुहूर्त में होगी प्राण प्रतिष्ठा

22 जनवरी को अयोध्या में नवनिर्मित राम मंदिर में रामलला की प्राण प्रतिष्ठा के लिए 84 सेकंड का अति सूक्ष्म मुहूर्त होगा, जिसमें रामलला की प्राण प्रतिष्ठा की जाएगी. ये शुभ मुहूर्त का यह क्षण 84 सेकंड का मात्र होगा जो 12 बजकर 29 मिनट 8 सेकंड से 12 बजकर 30 मिनट 32 सेकंड तक होगा.

इस 7 दिवसीय प्राण प्रतिष्ठा समारोह 16 जनवरी से शुरू होगा. 16 जनवरी को विष्णु पूजा एवं गौदान होगा. इसके बाद 17 जनवरी को रामलला की मूर्ति को नगर भ्रमण के लिए ले जाया जाएगा और राम मंदिर ले जाया जाएगा. 18 जनवरी भगवान गणेश का पूजन होगा. साथ ही वरुण देव पूजा और वास्तु पूजा भी होगी. 19 जनवरी को हवन अग्नि प्रज्वलित की जाएगी और हवन किया जाएगा. 20 जनवरी को वास्तु पूजा होगी. 21 जनवरी को राम लला की मूर्ति को पवित्र नदियों के पवित्र जल से स्नान कराया जाएगा. जबकि 22 जनवरी को प्राण प्रतिष्ठा समारोह का भव्य आयोजन किया जाएगा.



About Author

यह भी पढें   आज का पंचांग: आज दिनांक 23 फरवरी 2024 शुक्रवार शुभसंवत् 2080
आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Loading...
%d bloggers like this: