Fri. Apr 3rd, 2020

प्रदेशन नं. २ की सत्ताधारी के साथ केन्द्र सरकार की सांठगांठ पर प्रभु साह द्वारा आपत्ति

  • 10
    Shares

काठमांडू, १ फरवरी । नेपाल कम्युनिष्ट पार्टी (नेकपा) के नेता तथा प्रदेश नं. २ के अध्यक्ष प्रभु शाह को मानना है कि प्रदेश नं. २ के प्रमुख सत्ताधारी दल और नेकपा के बीच केन्द्र सरकार में हुए सांठगांठ आपत्तिजनक है । जारी पार्टी केन्द्रीय कमिटी बैठक में अपना लिखित मन्तव्यं के साथ समाजवादी पार्टी का नाम उल्लेख ना करते हुए नेता शाह ने कहा है– ‘पार्टी में नीतिगत स्पष्टता जरुरी है । विगत दिन में प्रदेश सरकार में हम लोग प्रतिपक्षी थे, प्रदेश सकरार के प्रमुख सत्ताधारी दल के साथ पार्टी ने संघीय सरकार में सहकार्य किया । इसका औचित्य क्या है ? जवाफ चाहता हूँ ।’
नेता साह ने कहा है कि अब ऐसा ना हो । उन्होंने यह भी कहा है कि पार्टी अन्तर संघर्ष के नाम में पार्टी की प्रतिष्ठा भी ध्वंस्त हो रहा है, अपराधिक गतिविधियां बढ़ रही है । उन्होंने कहा कि ऐसे कार्य करनेवाले नेता को कारवाही होना चाहिए । पार्टी नेतृत्व प्रति असंतुष्टि व्यक्त करते हुए उन्होंने यह भी कहा है कि अगर वह प्रदेश नं. २ के अध्यक्ष नहीं रहना चाहते हैं तो, उनकी इस्तिफा पार्टी को स्वीकार करनी चाहिए । अपनी इस्तिफा पर चर्चा करते हुए नेता साह ने कहा है– ‘अगर में अपनी पद छोड़ना चाहता हूं तो उसकी स्वतन्त्रता है, मैं क्यों अपना पद नहीं छोड़ सकता ? पद भी नहीं छोड़ सकता और काम करना भी नहीं दिया जाता । ऐसी अवस्था कम तक रहेगी ?’
पार्टी स्थायी कमिटी और केन्द्रीय कमिटी सदस्य छनौट मापदण्ड पर भी असन्तुष्टि व्यक्त करते हुए नेता साह ने पार्टी नेतृत्व से प्रश्न किया है ।

Loading...

 
आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: