Tue. Jul 7th, 2020

अंगीकृत नागरिकता संबंधी प्रावधान पारित, नागरिकता से पहले ‘आवासीय अनुमति पत्र’

  • 148
    Shares

काठमांडू, २२ जून । नेपाली पुरुष से शादी करनेवाली विदेशी बहू को ७ साल के बाद ही अंगीकृत नागरिकता प्रदान करने के लिए तय नागरिकता संबंधी विधेयक को पारित किया गया है । राज्य व्यवस्था तथा सुशासन समिति ने उक्त विधेयक में आइतबार सर्वसहमति करने की कोशीश की थी । लेकिन प्रमुख प्रतिपक्षी दल नेपाली कांग्रेस और जनता समाजवादी पार्टी संबंद्ध सांसदों ने उक्त विधेयक में फरक मत रखने के कारण विधेयक को बहुमत से पारित किया गया है ।
पारित विधेयक अब प्रतिनिधिसभा पूर्ण बैठक में पेश किया जाएगा । प्रतिनिधिसभा से पारित होने के बाद ही इसको कानूनी मान्यता मिलेगी । शनिबार सम्पन्न सत्ताधारी दल नेपाल कम्युनिष्ट पार्टी (नेकपा) ने विदेशी बहु को ७ साल के बाद ही अंगीकृत नागरिकता प्रदान करने का निर्णय किया था, उसी निर्णय के अनुसार राज्य व्यवस्था तथा सुशासन समिति ने बहुमत से विधेयक को पातिर किया है । लेकिन कांग्रेस और जसपा ने नागरिकता ऐन २०६३ अनुसार के ही प्रावधान के पक्ष में हैं । स्मरणीय है, नागरिकता ऐन २०६३ के अनुसार शादी के तुरन्त बाद भी नागरिकता प्राप्त हो सकती है ।
प्रस्ताविक विधेयक अनुसार अब नेपाली पुरुष से शादी करनेवाली विदेशी महिला को ७ साल के बाद ही अंगीकृत नागरिकता मिलेगी । लेकिन नागरिकता प्राप्त करने से पहले आर्थिक, सामाजिक और सांस्कृतिक अधिकार सहित की एक विशेष आवासीय अनुमतिपत्र दी जाएगी । उक्त अनुमतिपत्र प्राप्त करने के बाद विदेशी बहू नेपाल में रह कर व्यवसाय संचालन और उद्योग स्थापना एवं संचालन कर सकती है । इसीतरह स्कूल–कॉलेजों में भर्ती, सर्टिफिकेट प्राप्ति, जन्म–मृत्यु की पंजीकरण, वैवाहिक संबंध–विच्छेद, बसाई सराई जैसे व्यक्तिगत घटना पंजीकरण की सुविधा भी आवासीय अनुमतिपत्र से प्राप्त हो सकती है ।

आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Loading...
%d bloggers like this: