Thu. Nov 14th, 2019

देवशयनी एकादशी पर करें अपनी राशि अनुसार मंत्रजाप होगा मनोनुकूल असर

12 JULY

देवशयनी एकादशी को देव प्रबोधिनी एकादशी के समान ही बड़ी और पवित्र माना गया है। इस दिन भगवान विष्णु को प्रसन्न किया जाता है। आइए
जानें आपकी राशि अनुसार उपाय और शुभ मंत्र :

मेष- मेष राशि वालों को इस समय विवादित सौदों में पूंजी निवेश से बचना चाहिए।

* दान एवं उपाय- सरसों के तेल का दान गरीबों को दें।

मंत्र- ॐ अं वासुदेवाय नम:

वृषभ- वृषभ राशि वालों को पारिवारिक समस्याओं का सामना करना पड़ेगा।

* दान एवं उपाय- ज्वार गरीब व गौशाला में दान दें।

मंत्र- ॐ आं संकर्षणाय नम:

मिथुन – मिथुन राशि वालों को कारोबार में लाभ और विवादों से पीछा छूटेगा।

* दान एवं उपाय- उड़द के आटे की गोलियां बनाकर मछलियों को डालें।

मंत्र- ॐ अं प्रद्युम्नाय नम:

कर्क- सरकार से लाभ मिलेगा और विघ्न और परेशानियों से छुटकारा मिलेगा।

* दान एवं उपाय- भगवान शिव पर बेलपत्र अर्पित करें।

मंत्र- ॐ अ: अनिरुद्धाय नम:

सिंह- सिंह राशि वालों को किए गए कार्यों में मनोनुकूल फल प्राप्त नहीं होंगे।

* दान एवं उपाय- मां भगवती के श्रीचरणों में गुलाब के 108 फूल अर्पित करें।

मंत्र- ॐ नारायणाय नम:

कन्या- कन्या राशि वालों के मनोनुकूल कार्य परिवर्तन एवं कोर्ट-कचहरी के मामले हल होंगे।

* दान एवं उपाय- वट वृक्ष के पेड़ में जल अर्पित करें।

मंत्र- ॐ नमो भगवते वासुदेवाय नम:

तुला- तुला राशि वालों की आय के साधनों में वृद्धि होगी और स्वास्थ्य संबंधी परेशानियों का निवारण होगा।

* दान एवं उपाय- गरीब कन्याओं को दूध और दही का दान दें।

मंत्र- ॐ नमो नारायण। श्री मन नारायण नारायण हरि हरि।

वृश्चिक- वृश्चिक राशि वालों का पिछली समस्याओं से पीछा छूटेगा और मित्रों का पूर्ण सहयोग प्राप्त होगा।

* दान एवं उपाय- साबुत मसूर सफाई कर्मचारी को दान में दें।

मंत्र- श्रीकृष्ण गोविन्द हरे मुरारे। हे नाथ नारायण वासुदेवाय।।

धनु- धनु राशि वालों को कम प्रयत्न और लाभ अधिक होगा। आय के साधन बढ़ेंगे।

* दान एवं उपाय- अंधे व्यक्ति को भोजन कराना लाभकारी रहेगा। चने की दाल कुष्ठ रोगियों को दें।

मंत्र- ॐ नारायणाय विद्महे।
वासुदेवाय धीमहि।
तन्नो विष्णु प्रचोदयात्।।

मकर- मकर राशि वालों को व्यर्थ के भ्रम, भ्रांति और भय से बाहर आना होगा। अहम और ईर्ष्या नुकसान देगी।

* दान एवं उपाय- बाजरा पक्षियों को डालें।

मंत्र- शांताकारं भुजगशयनं पद्मनाभं सुरेशं
विश्वाधारं गगनसदृशं मेघवर्णं शुभांगम
लक्ष्मीकांतं कमलनयनं योगिभिर्ध्यानगम्यं
वंदे विष्‍णुं भवभयहरं सर्वलोकैकनाथम्।।

कुंभ- कुंभ राशि वालों के रुके हुए कार्य बनेंगे। राजनीतिक वर्चस्व बढ़ेगा। सामाजिक सुयश की प्राप्ति भी होगी।

* दान एवं उपाय- 800 ग्राम दूध अपने ऊपर से 8 बार उतार कर 800 ग्राम उड़द के साथ बहते पानी में प्रवाह कर दें।

मंत्र- त्वमेव माता, च पिता त्वमेव
त्वमेव बंधु च सखा त्वमेव
त्वमेव विद्या च द्रविडम त्वमेव
त्वमेव सर्वम मम देव देव

मीन- मीन राशि वालों के व्यवसाय में सफलता, सामाजिक दायरों में वृद्धि का प्रबल योग।

* दान एवं उपाय- मिट्टी के पात्र में श्रद्धानुसार शहद भरकर मंदिर में रखकर आ जाएं या वीराने में दबा दें।

मंत्र- ॐ विष्णवे नम: का जाप करें।

एकादशी पर अवश्य पढ़ें भगवान विष्णु के ये 3 सरलतम मंत्र –

1. देवशयनी एकादशी संकल्प मंत्र

सत्यस्थ: सत्यसंकल्प: सत्यवित् सत्यदस्तथा।
धर्मो धर्मी च कर्मी च सर्वकर्मविवर्जित:।।
कर्मकर्ता च कर्मैव क्रिया कार्यं तथैव च।
श्रीपतिर्नृपति: श्रीमान् सर्वस्यपतिरूर्जित:।।

2. देवशयनी एकादशी पर भगवान विष्णु को प्रसन्न करने का मंत्र –

सुप्ते त्वयि जगन्नाथ जगत सुप्तं भवेदिदम।
विबुद्धे त्वयि बुध्येत जगत सर्वं चराचरम।

3. देवशयनी एकादशी विष्णु क्षमा मंत्र

भक्तस्तुतो भक्तपर: कीर्तिद: कीर्तिवर्धन:।
कीर्तिर्दीप्ति: क्षमाकान्तिर्भक्तश्चैव दया परा।।

आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *