Wed. Feb 19th, 2020

नेपाल भारत के जाे हित में हाे वह रणनीति बनाई जाए

  • 183
    Shares

काठमाडौँ ।

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) निकट इण्डिया फाउण्डेशन और नीति अनुसन्धान प्रतिष्ठान नेपाल ने नेपाल के नेताओं काे भारत आमंत्रित कर  दाे दिनाें तक  औपचारिक और अनौपचारिक विचार विमर्श किया है । नेपाल में बदलते अन्तर्राष्ट्रीय परिस्थिति काे मध्यनजर रखते हुए भारत के भाजपा नेतृत्व के सरकार ने नेपाल के लिए अपनी रणनीति में बदलाव करने जा रही है । इसी विषय पर नेपाल  के विषय वस्तु  काे ध्यान में रखकर राजनीतिक अवस्था पर अध्ययन कर रहा है ।

भारत कार्यक्रम की आयोजना  नेता तथा थिङ्क ट्याङ्क काे बुलाकर विचार विमर्श और सुझाव ले रही है ।  नेपाल से इसके लिए समन्वय भाजपा के आरएसस द्वारा गठित  नीति अनुसन्धान प्रतिष्ठान कर रहा है । भारत उत्तर प्रदेश के लखनउ में बुधवार (माघ २९) से एक कार्यक्रम का आयोजना किया था ।

कार्यक्रम में नेपाल से राजपा नेपाल के अध्यक्षमण्डल के सदस्य राजकिशोर यादव, काँग्रेस के महामन्त्री शशाङ्क कोइराला, काँग्रेस के  नेता मिनेन्द्र रिजाल,   खिमलाल देवकोटा, लेखक श्रीकृष्ण अनुरुद्र गौतम, प्रोफेसर कृष्णचन्द्र शर्मा, पूर्व राजदूत दीपकुमार उपाध्याय, मृगेन्द्रबहादुर कार्की, डा.चन्द्रदेव भट्ट, पूर्व डिआइजी रमेश खरेल, अवकाश प्राप्त सेना विनोज वसन्यात, नलिनी ज्ञवाली प्रतिष्ठान के अध्यक्ष, रमेश कुमार ढुगेंल अध्यक्ष, लुम्बनी विश्व विद्यालय, भारत के लिए नेपाली राजदूत निलाम्बर आचार्य, रवी शंकर सैंजु (पूर्व सचिव नेपाल) और प्रतिकुमारी मण्डल (प्रोफेसर) इस कार्यक्रम में सहभागी थे ।

भारत की ओर से सौर्या डोभल (इण्डिया फाउण्डेशन), तरुण विजय (राज्यसभा के पूर्व एमपी), डा.सुधान्सु त्रिदेवी (एमपी राज्यसभा), सिद्धार्थनाथ सिह और डा. महेन्द्र सिंह (उत्तर प्रदेश के मन्त्री), योगी आदित्यनाथ (मुख्यमन्त्री उत्तर प्रदेश) एसडी मुनी (नेपाल–भारत विज्ञ), राम माधव वंशल (भाजपा महासचिव), आलोक वंशल (अध्यक्ष इण्डिया फाउण्डेशन), परफुल्ला केटकर (पत्रकार), डा.गुरु प्रकाश (प्रोफेसर पटना युनिभर्सिटी और अभियन्ता), निशा तनेजा (प्रोफेसर), मनोज कुमार सिंह (उत्तर प्रदेश), खरात राजेश श्रीकृष्णा (प्रोफेशर जेएनयु), गुरुप्रकाश (दलित चेम्बर अफ कमर्श भारत) सहभागी थे ।

इण्डिया फाउण्डेशन के चेयरमैन भाजपा के महासचिव राम माधव वंशल हैं । इण्डिया फाउण्डेशन के सेकेण्ड मैन सौर्या डोभल प्रधानमन्त्री नरेन्द्र मोदी के प्रमुख सुरक्षा सलाह कार अजित डोभाल के बेटे हैं ।  आलोक वंशल भी भाजपा के प्रभावशाली नेता हैं। इसी तरह भाजपा के प्रभावशाली नेता एवम् उत्तर प्रदेश के मुख्यमन्त्री आदित्यनाथ योगी भी है। इसके साथ ही आरएसएस और भाजपा के अन्य वरिष्ठ नेता भी सहभागी इस कार्यक्रम में नेपाल से गए नेताओं के साथ विचार विमर्श किया ।

कार्यक्रम में इस विषय पर अधिक जाेर दिया गया कि दाेनाें देशाें के बीच ऐसी नीति बनाई जाय जाे दाेनाें देशाे के लिए फायदेमन्द हाे ।

Loading...

 
आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: