Sun. Jan 19th, 2020

भारतीय नागरिकों द्वारा ओली सरकार के विरोध में बार्डर पर विरोध-प्रदर्शन, नारेबाज़ी।

  • 1.2K
    Shares

रेयाज आलम, बीरगंज, भाद्र ४ गते, बुधवार | नेपाल में भारतीय वाहन चालकों को तंग करने व नित नए नियम लागू करने के विरुद्ध बार्डर जाम किया है। भारतीय नागरिकों ने रक्सौल बीरगंज मैत्री पुल पर एम्बुलेंस व वाहन खड़ा कर आवागमन रोका। नेपाल में भारतीय वाहनों की एंट्री को ले कर नेपाल सरकार के द्वारा प्रत्येक दिन नियम बदलने से बढ़ी परेशानी को लेकर भारत नेपाल सीमा के रक्सौल बार्डर के मैत्री पुल पर आक्रोशित भारतीय लोगो ने जाम कर दिया। बुधवार की सुबह स्थानीय लोगों ने हजारों की संख्या में रक्सौल-बीरगंज मैत्री पुल पर एम्बुलेंस, बाइक व ट्रको को खड़ा कर सीमा अवरुद्ध कर दिया गया। इस दौरान नेपाल की ओली सरकार मुर्दाबाद, नेपाल कस्टम व पुलिस हाय हाय औऱ नए नियम वापस लो का नारा बुलंद किया गया।

भारतीय वाहन सीमा पार नेपाल के बीरगंज में जब पहुँचती हैं तो उन्हें नेपाली भंसार (कस्टम)  पर नेपाल प्रवेश के लिए इंट्री या कस्टम ड्यूटी पेड करनी पड़ती है। इसके लिए उन्हें कड़ी धूप हो या बारिश या फिर भीषण ठंड मे घंटो कतारबद्ध हो कर इंतजार करना पड़ता है। यही नही यदि आप शाम पांच बजे के बाद पहुँचते हैं, तो इंट्री नही की जाती। भले ही कितना ही इमरजेंसी क्यों न हो। एंट्री और भंसार के बाद भी रास्ते मे रंगदारी भी लिया जाता है।

वहीं,नेपाल जाने के बाद आने में निर्धारित समय से विलम्ब हो गई, यानी कि भन्सार या इंट्री का समय खत्म हो गया, तो कार्रवाई करते हुए वाहन को ज़ब्त कर नीलाम भी कर दिया जाता है। आरोप है कि नेपाली प्रशासन द्वारा लगातार इस नियम में सख़्ती करते हुए परेशान किया जा रहा है।जबकि, नेपाल से आने जाने वाले नेपाली वाहन चालकों को लोकल लेवल पर न तो इस तरह की एंट्री की परेशानी होती है। पर्ची कटानी होती है। न सख़्ती की जाती है।

क्रास बार्डर क्राइम रोकने के लिए दोनों देशों के प्रशासन मिल जुल कर काम करती है। लेकिन,हाल के दिनों में बीरगंज के नए एसपी सोमेंद्र सिंह राठौर की सख़्ती व नित नए नियमों को लागू करने से ओली सरकार के खिलाफ आक्रोश बढ़ता जा रहा है |

देखिये आप भी क्लिक करें लिंक

Loading...

 
आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: