Mon. Aug 10th, 2020

नेपाल सीमा पर पीएफआई स्लीपिंग मॉड्यूल्स सक्रिय, टेरर फंडिंग के लिए कर रहा काम

  • 34
    Shares

अमर उजाला में प्रकाशित समाचार के अनुसार नेपाल के जरिये आतंकियों को आर्थिक मदद देने वाले गिरोह का खुलासा होने के बाद अब पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (पीएफआई) के मॉड्यूल्स के नेपाल सीमा पर सक्रिय होने के इनपुट खुफिया एजेंसियों को मिले हैं। खुफिया सूत्रों के मुताबिक ढाई महीने पहले नेपाल में पीएफआई की एक बैठक हुई थी जिसमें लखीमपुर खीरी से भी कई लोग शामिल हुए थे।
सूत्रों के अनुसार खुफिया इनपुट मिलने के बाद सीमा पर सुरक्षा चौकसी बढ़ा दी गई है। सीमा सुरक्षा एजेंसियां सतर्क हो गई हैं। हालांकि इस मामले में सुरक्षा एजेंसियों के अफसर अभी कुछ भी कहने से बच रहे हैं। मालूम हो कि निघासन थाना पुलिस व यूपीएटीएस लखनऊ ने नेपाल सीमा पर टेरर फंडिंग मामले का खुलासा किया था।

यह भी पढें   रिया चक्रवर्ती तांत्रिक से सुशांत का इलाज कराती थी

इस मामले में 11 लोग जेल में बंद हैं। एटीएस इस मामले की जांच कर रही है। एटीएस की जांच में टेरर फंडिंग मामले में पीलीभीत की नेपाल सीमा से लेकर लखीमपुर, बहराइच होते हुए महाराजगंज तक 100 स्लीपिंग मॉड्यूल्स का खुलासा हुआ था। इनमें से 30 मॉड्यूल्स को एटीएस ने चिह्नित भी किया था।

सूत्रों का कहना है कि हाल ही में नागरिकता संशोधन कानून व एनआरसी के विरोध में प्रदेश में हुई हिंसा में पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया व स्टूडेंट इस्लामिक मूवमेंट (सिमी) की संलिप्तता उजागर हुई है। इस वजह से खुफिया तंत्र पीएफआई के सक्रिय होने पर अलर्ट हो गया है।

यह भी पढें   लायंस क्लब ने बृक्षारोपण कार्यक्रम के तहत एक सौ पौधे लगाए 

एसपी पूनम ने कहा कि नेपाल सीमा पर पहले से ही पुलिस व सुरक्षा एजेंसियां पूरी तरह से मुस्तैद हैं। अगर कोई पीएफआई के स्लीपिंग मॉड्यूल्स की सक्रियता का इनपुट मिला है तो उस पर कार्रवाई की जाएगी।

आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Loading...
%d bloggers like this: