Sun. May 19th, 2024

नेपाल के बेटे का भारत में कमाल, आज है उदितनारायण का जन्मदिन, जानिए उनके कुछ दिलचस्प किस्से

1 दिसंबर 22



1 दिसंबर 1955 में जन्मे उदित के सुरों का ही कमाल है कि उन्हें भारत सरकार ने पद्मश्री सम्मान से सम्मानित किया है. भारत की प्रसिद्ध गायिका लता मंगेशकर भी उदित को बहुत मानती थीं. उदित नारायण की जिंदगी के शुरुआती दौर में बहुत उतार-चढ़ाव रहा है. जीवन में कितनी भी मुश्किलें आए लेकिन अगर आप कोशिश करना नहीं छोड़ते हैं सफलता आपके दामन में आती ही है, ये सीख उदित की लाइफ से मिलती है.

उदित नारायण की लाइफ के स्ट्रगल के बारे बताएंगे लेकिन उससे पहले जान लीजिए कि लता मंगेशकर के साथ सिंगर का रिश्ता. लता मंगेशकर के साथ करीब 2 सौ गीत गाने वाले उदित नारायण उन लोगों में से हैं जिन्हें लता दी ने गिफ्ट दिया है. इतना ही नहीं सुरों की मल्लिका लता दी उदित की गायिकी की मुरीद थीं और उन्हें ओरिजिनल सिंगर कहती थीं.

उदित नारायण ने एक बार पत्रिका प्लस से बात करते हुए बताया था कि ‘मेरी लता दी से पहली मुलाकात पुणे के एक चैरिटी शो में हुई थी. दोबारा बेंगलुरू के एक कार्यक्रम में फिर मिलना हुआ. इत्तेफाक की बात है कि उस दिन 1 दिसंबर मेरा जन्मदिन था. जब लता मंगेशकर को इसकी जानकारी हुई तो सोने की चेन तोहफे में दी और मेरा नाम ‘प्रिंस ऑफ प्लेबैक सिंगर’ रख दिया है. उनका दिया चेन मेरी जिंदगी का सबसे कीमती तोहफा था, जिसे मैंने आज भी संभाल कर रखा है’. लेकिन उदित नारायण को इस मुकाम तक पहुंचने के लिए कड़ी मेहनत करनी पड़ी है.

नेपाली रेडियो से सिंगिंग का करियर शुरू करने वाले उदित जब मुंबई आए तो सबसे पहले फिल्म ‘उन्नीस-बीस’ में रफी साहब के साथ गाने का मौका मिला था, लेकिन किस्मत चमकी आमिर खान की फिल्म ‘कयामत से कयामत तक’ से. इस फिल्म से आमिर ने एक्टिंग करियर शुरु किया तो उदित की सफलता की राह भी इसी से खुली. इस फिल्म में उदित की आवाज में ‘पापा कहते हैं बड़ा नाम करेगा’ ऐसा हिट हुआ कि आज भी लोग सुनते और सुनाते हैं. ये गाना ऐसा पॉपुलर हुआ कि रातों-रात उदित स्टार सिंगर बन गए.

हालांकि फिल्म ‘उन्नीस-बीस’ से लेकर ‘कयामत से कयामत तक’ के बीच का सफर लंबा और बड़ा ही कष्टकारी रहा. कहते हैं कि गुजारा चलाने के लिए उदित नारायण करीब 10 साल तक होटलों और छोटे-मोटे फंक्शन में गाना गाते रहे.

शादी को लेकर विवादों में रहे थे उदित नारायण

जिंदगी की तरह उदित नारायण की पर्सनल लाइफ में भी काफी विवाद हुआ था. उदित की पहली शादी रंजना नारायण झा से हुई थी और दूसरी शादी दीपा नारायण से की. उदित ने अपनी पहली शादी मानने से इनकार कर दिया तो रंजना ने कोर्ट का सहारा लिया और शादी की तस्वीरें दिखाई. इसके बाद तो उदित को अपनी पहली शादी का सच बताना ही पड़ा. खैर अब उदित ना सिर्फ गायिकी में एक बड़ा मुकाम बना चुके हैं कि बल्कि अपनी फैमिली लाइफ में भी काफी खुशहाल हैं. उदित और दीपा के बेटे आदित्य नारायण एक जाने माने सिंगर और होस्ट हैं.



About Author

यह भी पढें   देउवा ने विपक्षी दल की बैठक बुलाई
आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Loading...
%d bloggers like this: