Thu. Apr 18th, 2024

नेपालगञ्ज में कृतिम गहना का घर ‘जेडी कलेक्सन एनपिजे’ संचालन में

नेपालगञ्ज/(बाँके) पवन जायसवाल । नेपालगञ्ज के न्यूरोड में कृतिम गहना का घर जेडी कलेक्सन एनपिजेफाल्गुन ९ गते बुद्धवार को सञ्चालन में आयी है । 



नेपालगन्ज उपमहानगरपालिका वार्ड नं.२ न्युरोड में कृतिम गहना की घर जेडी कलेक्सन एनपिजेबुद्धवार को एक कार्यक्रम के बीच लुम्बिनी प्रदेश शहरी विकास तथा खानेपानी मन्त्री कृष्ण केसी नमूना ने जेडी कलेक्सन एनपिजे की रीबन काटकर शुभारम्भ की ।

उद्घाटन कार्यक्रम में लुम्बिनी प्रदेश शहरी विकास तथा खानेपानी मन्त्री कृष्ण केसी नमूना ने हम लोग महिला उद्यमी की विकास लिये और प्रवद्र्धन में सदैव सकारात्मक रही हूँ कहते हुये महिलाएँ को आर्थिक रुप में आत्मनिर्भर होने के लिये व्यवसाय की सुरुआत करना पडेगा बतायी । नेपालगन्ज की नयूरोड में खोली गई  जेडी कलेक्सन एनपिज ने अन्य अधिक महिलाओं को व्यवसाय में आने की उत्पे्ररणा देगी मन्त्री कृष्ण केसी नमूना बतायी ।

इसी तरह वह कार्यक्रम में महिला उद्यमी संघ नेपाल बाँके ने समन्वय की वह उद्घाटन कार्यक्रम में बोलते हुये  अध्यक्ष साबित्रा पोखरेल बस्नेत ने महिलाओं को आर्थिक रुप में सशक्त बना सके तो देश की आर्थिक अवस्था मजबूत होगी बतायी ।

कृतिम गहना की घर जेडी कलेक्सन एनपिजेव्यवसायी रिचा लुइटेल ने अपनी जन्मदिन की अवसर सञ्चालन की जेडी कलेक्सन एनपिजे में स्वदेशी तथा विदेशी कृतिम गहना विक्री करने के लिये रक्खा गया है । ३० लाख रुपैयाँ लगानी में खोली गई जेडी कलेक्सन एनपिज में लोग प्रत्यक्ष रुप में रोजगार पाये है  सञ्चालिका रिचा लुइटेल ने बतायी । उदघाटन कार्यक्रम में प्रयर्टन प्रवद्र्धन मंच बाँके जिला के अध्यक्ष तथा नेपालगन्ज उद्योग वाणिज्य संघ के पूर्व अध्यक्ष कृष्ण प्रसाद श्रेष्ठ, नेपाली कांग्रेस बाँके के कार्यवहाक सभापति गोपाल प्रसाद अधिकारी लगायत लोगों ने जेडी कलेक्सन एनपिज सफलता के लिये शुभकामना दिये थे ।

अपनी घर से ५ हजार रुपैया में सुरु की व्यवसाय को विस्तार करते हुये रोड में व्यवसाय शुरु करना शुरु की हूँ और मैं उत्साहित हुँ सञ्चालक रिचा लुइटेल ने बतायी । फाल्गुन ९ गते बुधवार अपनी जन्म दिन की अवसर पर व्यवसायी रिचा लुइटेल ने मानव सेवा आश्रम में रहें असहयों के लिये  एक खुराक खाना बराबर की रकम ५ हजार १ सौ रुपैयाँ भी आर्थिक सहयोग की ।



About Author

यह भी पढें   पेट्रोल, डिजेल तथा मट्टीतेल के मूल्य में वृद्धि
आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Loading...
%d bloggers like this: