Sun. Nov 17th, 2019

मन्त्री परिवर्तन के लिए प्रधानमन्त्री के ऊपर दबाव

काठमांडू, २३ जून । प्रधानमन्त्री केपीशर्मा ओली में सरकार की कार्यशैली और मन्त्री परिवर्तन के लिए पार्टी की ओर से ही दबाव बढ़ने लगा है । पार्टी के अधिकांश नेता सकार की कार्यशैली के प्रति सन्तुष्ट नहीं हैं । असन्तुष्ट नेताओं का कहना है कि केपी ओली नेतृत्व में १५ महीनों से सरकार संचालन हो रहा है, लेकिन जनता की अपेक्षा अनुसार काम नहीं हो रहा है ।
पार्टी के आन्तरिक विचार–विमर्श के क्रम में वरिष्ठ नेता तथा पूर्व प्रधानमन्त्री झलनाथ खनाल, माधव कुमार नेपाल लगायत नेताओं ने कहा है कि अब सरकार को आत्मसमीक्षा के साथ आगे बढ़ने की जरुरत है । उन लोगों का कहना है कि प्रभावकारी काम ना करनेवाले और आलोचित मन्त्रियों को सरकार हटाकर नयां मन्त्री रखना चाहिए, जिससे प्रभावकारी काम हो सके । नेताओं ने यह भी कहा कि एक वर्ष पहले ही पार्टी एकता हो गई है, लेकिन आज तक संगठनिक एकता नहीं हो रही है । इसमें भी नेताओं ने प्रधानमन्त्री केपी शर्मा ओली के प्रति लक्षित करते हुए आलोचना की है ।
बताया जाता है कि अब कुछ ही दिनों में पार्टी दो अध्यक्ष और कुछ पदाधिकारी के बीच गम्भीर विचार–विमर्श होनेवाला है । उसके बाद सकार में मन्त्री परिवर्तन के लिए प्रक्रिया आगे बढ़ेगी । लेकिन मन्त्री परिवर्तन का मापदण्ड अभी तक तैयार नहीं हुआ है । समाचार स्रोतका कहना है कि उससे पहले मन्त्री परिवर्तन संबंधी एक मापदण्ड भी तैयार की जाएगी ।

आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *