Tue. Aug 20th, 2019

क्या नेपाल अपने प्रदेश को अलग संविधान बनाने का अधिकार दे सकता है ? पंकज दास

नेपाल के वामपंथी बुद्धिजीवी नेपाल सरकार पर काश्मीर मुद्दे पर भारत सरकार के विरोध में अपनी धारणा स्पष्ट करने के लिए दबाव दे रहे हैं। मैं ऐसे सभी बुद्धिजीवी लोगों से एक सवाल पूछना चाहता हूं।
– नेपाल यदि जम्मु कश्मीर मुद्दे पर विरोध करता है तो क्या नेपाल अपने देश में दो कानून, दो निशान, दो झण्डा, दो विधान को मान्यता दे सकता है?
– नेपाल यदि इसका विरोध करता है तो क्या नेपाल अपने प्रदेश को ठीक उसी प्रकार का विशेष दर्जा देने को तैयार है?
– क्या नेपाल अपने प्रदेश को अलग से संविधान बनाने का अधिकार दे सकता है? l क्या नेपाल अपने किसी प्रदेश को देश से अलग होने का आत्मनिर्णय का अधिकार दे सकता है?
– क्या नेपाल एक प्रदेश के लोगों को दूसरे प्रदेशों में जमीन खरीदने पर रोक लगा सकती है?
अगर यह सब काम हमें अपने देश के लिए मंजूर नहीं है तो हम किस आधार पर भारत सरकार के इस कदम का विरोध कर रहे हैं? यह दोहरा चरित्र नहीं चलेगा।

Images Courtesy:Google

आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *