Fri. Sep 20th, 2019

राजपा समाजवादी पार्टी एकिकरण खटाई में, अनिल झा ने इसे मनगढ़न्त हल्ला करार दिया

काठमांडू,१९ अगस्त २०१९ | राष्ट्रीय जनता पार्टी तथा समाजवादी पार्टी की एकिकरण प्रक्रिया लगभग खटाई में पड़ गई है | राजपा के बरिष्ट नेता तथा अध्यक्ष मंडल के सदस्य श्री अनिल कुमार झा ने रविवार को हिमालिनी से बात करते हुए इसे एक साजिस ही करार दिया | उनसे जब पूछा गया गया कि आप एकिकरण में बाधक क्यों बन रहें हैं तो उन्होंने कहा….

राजपा अध्यक्ष मंडल के सदस्य के नाते मैं कह रहा हूँ कि अध्यक्ष मंडल में अभी तक एकिकरण का कोई प्रस्ताव ही नही आया है | और हाँ अगर समाजबादी पार्टी की बात है तो हमलोगों ने एक समिति बनाई है जो समिति पांच सदस्यीय है जिसके संयोजक राजेन्द्र महतो हैं | पांच सदस्यीय समिति में चार सदस्य को एकिकरण के बारे में कुछ जानकारी नही है | अध्यक्ष मंडल में भी इसकी कोई जानकारी नही है | अगर राजेन्द्र महतो जी को कोई जानकारी है तो उन्होंने कुछ बताया ही नही  है | हालही में अध्यक्ष मंडल की बैठक हुई उसमे भी राजेन्द्र जी से पूछा गया तो उन्होंने कुछ नही बताया | राजेंद्रजी से यह पूछा गया कि कम से कम इतना बताइए कि कितना परसेंट % प्रगति है तो उन्होंने सिर्फ 1% प्रगति बताया | अब इससे अंदाज लगाया जा सकता है एकिकरण नही हो रहा है | हमे भी मिडिया से सुनने को मिलता है, ऐसा लगता है कि एकिकरण एक घंटा के अंदर ही हो जाएगा लेकिन यह हल्ला मात्र चलाया जा रहा है |

राजपा को ध्वस्त करने की साजिस सुनिये उन्ही के जुवान से, CLICK करें

श्री अनिल झा ने कहा कि कभी समिति के लोगों से कोई वार्ता नही हुई ना ही समिति में कुछ कहा गया तो इसमें हम कहाँ बाधक हुए | राजेंद्रजी को तो बताना चहिये की स्थिति क्या है ? बाधक तो वो लोग हैं जो वार्ता करने जातें हैं और एकिकरण का मनगढ़न्त हल्ला फैलाते हैं | श्री झा ने उदाहरण देते हुए कहा कि द हिमालयन टाइम्स में हम भी पढ़े हैं श्री उपेन्द्र यादव से एकिकरण के वारे में पूछने पर उन्होंने इंकार कर दिया | लेकिन उसी पेपर में लिखा गया है कि राजपा के एक नेता ने बताया कि एकिकरण हो रहा है | पत्रिका ने राजपा के एक नेता का नाम नही लिखा है | हमलोग उस एक नेता को पता लगा रहें हैं कि कौन हैं मिल नही रहा है | एकिकरण के संयोजक राजेंद्रजी हैं अगर उन्होंने कहा है तो उनको बताना चाहिए लेकिन ऐसा नही हो रहा है |

श्री अनिल झा ने यह जरुर कहा कि मै ऐसा एकिकरण के पक्ष में हूँ जो लोकतंत्र, मधेशवाद और नेपाल भारत सम्बन्ध को सुदृढ़ करने के पक्ष में हो | राजपा को जिस मधेशी जनता ने भोट दिया है उसके इच्छा के विपरीत मैं नही जानेवाला हूँ | अभी जो मनगढ़न्त हल्ला चलाया जा रहा है एकिकरण का वह राजपा को कमजोर करने के लिए है | हम एकिकरण के नाम पर मार्केटिंग नही करते हैं और नाही हम राजपा को खत्म होने देंगे |

 

आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *