Thu. Apr 2nd, 2020

आलम ने जिन्दा व्यक्ति काे उलटा लटकाया था

२०५६ चैत १७ ।

रौतहट के जिविस में आए तत्कालीन वनराज्यमन्त्री मोहम्मद आफताब आलम के निकट महताव आलमसहित के एक समूह ने सभापति रामचन्द्र राउत के कार्यकक्ष से जयप्रकाश कौशल का अपहरण किया था ।

इसके लिए उन्हाेंने  जिविस परिसर में रहे नाअझ ४४१ नम्बर की सरकारी गाडी प्रयोग किया था । जाँच के क्रम में उक्त गाडी जिला वन कार्यालय की हाेने की पुष्टि हुई थी ।

एमाले कार्यकर्तासमेत रहे कौशल काे अपहरण  बाद मारा पीटा जाता है बाद में आलम के काका शेख जर्नेल के घर में ले जाया जाता है । जहाँ उसे ‘सिलिङ फ्यान’ में लटकाया जाता है ।

यह भी पढें   निजामुद्दीन जानलेवा लापरवाही,144 लागू होने के बावजूद निजामुद्दीन में हुए धार्मिक जलसे में 2000 लोग शामिल

व्यापक खोजतलास के बाद उसी  दिन शाम शेख जर्नेल के घर से कौशल काे प्रहरी अपहरणमुक्त कराती है । यह समाचार आज के कान्तिपुर दैनिक में है ।

Loading...

 
आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: