Sat. Apr 4th, 2020

प्रदेश नं. २ नेपाल के भीतर है ?! अन्यौलता महसूस होती हैः मुख्यमन्त्री राउत

  • 1.4K
    Shares

काठमांडू, ९ नवम्बर । प्रदेश नं. २ के मुख्यमन्त्री केन्द्र सरकार के प्रति आक्रोशित दिखाई दिए हैं । उनका कहना है कि केन्द्र सरकार उनके नेतृत्व में रहे प्रदेश सरकार के प्रति सम्पूर्ण रुप में गैरजिम्मेदार है और द्वैध चरित्र भी दिखाई दे रही है । उनका मानना है कि केन्द्र सरकार की रवैया प्रदेश नं. २ नेपाल के भीतर है या नहीं ? इस प्रश्न को सोचने के लिए बाध्य करती है । शनिबार जनकपुर में आयोजित नेपाल साहित्य उत्सव को सम्बोधन करते हुए उन्होंने ऐसा दावा किया ।

कार्यक्रम को सम्बोधन करते हुए उन्होंने कहा कि देश भौगोलिक रुप में तो एकीकरण हो गई है, लेकिन भावनात्मक रुप में एकीकरण नहीं हो पाया है । उन्होंने कहा कि देश में कूल ७ प्रदेश हैं, उसमें से ६ प्रदेशों में नेकपा नेतृत्व में ही सरकार है, लेकिन प्रदेश नं. २ में अलग पार्टी के नेतृत्व में सरकार होने के कारण अन्य प्रदेशों की तुलना में समान व्यवहार प्रदेश नं. २ को नहीं मिल रहा है ।

मुख्यमन्त्री राउत के अनुसार बजेट की उपलब्धता, अन्य सेवा–सुविधा की वितरण आदि में केन्द्र सरकार द्वारा प्रदेश नं. २ सरकार के उपर विभेद हो रहा है । उन्होंने आगे कहा– ‘अमेरिका जाने के लिए मैंने राहदानी निर्माण प्रक्रिया शुरु की, नहीं बन पाया । लेकिन शेरधन राई लगायत अन्य मुख्यमन्त्री कई बार विदेश भ्रमण कर आ चुके हैं । क्या यह असमान व्यवहार नहीं है ?’ उनका यह भी मानना है कि आज भी प्रदेश सरकार में कर्मचारियों की अभाव है ।

मुख्यमन्त्री राउत को कहना है कि कानू निर्माण, विकास निर्माण तथा सामाजिक रुपान्तरण जैसे किसी भी विषय में केन्द्र सरकार की ओर से सहयोग नहीं मिल रही है ।

यह भी पढें   कोरोना कोष में १ अर्ब ९ करोड रकम संकलन
Loading...

 
आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: