Sat. Dec 14th, 2019

रिकी पोंटिंग ने लिया संन्यास…

रिकी पोंटिंग पर्थ टेस्ट के बाद संन्यास लेने की घोषणा कर दी। 1995 में पर्थ में ही श्रीलंका के खिलाफ अपना टेस्ट करियर शुरू करने वाले ऑस्ट्रेलिया के सफल बल्लेबाज रिकी पोंटिंग ने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ पर्थ टेस्ट के बाद संन्यास लेने की घोषणा की है।

पंटर’ के नाम से मशहूर रिकी पोंटिंग की कप्तानी में ऑस्ट्रेलिया ने कई आयामों को छुआ। वे सर डॉन ब्रैडमैन के बाद ऑस्ट्रेलिया सबसे सफल खिलाड़ियों में से हैं। क्रिकेट जगत में डॉन ब्रैडमैन, सचिन तेंडुलकर के बाद टेस्ट क्रिकेट में रिकी पोंटिंग का नाम लिया जा सकता है।

जनवरी में उन्होंने वन डे से संन्यास ले लिया था। रिकी पोंटिंग के टेस्ट करियर की बात की जाए तो अब तक रिकी पोंटिंग 167 टेस्ट खेल चुके हैं। अपने टेस्ट करियर में उन्होंने 52.21 के औसत से 13366 रन बनाए हैं, जिसमें 41 शतक और 62 अर्धशतक शामिल हैं। टेस्ट में क्रिकेट में उन्होंने 5 विकेट भी लिए हैं।

19 दिसंबर 1974 को तस्मानिया में जन्मे रिकी पोंटिंग का पूरा नाम रिकी थॉमस पोंटिंग है। संयोग की बात है कि उन्होंने अपना टेस्ट डेब्यू भी 1995 में पर्थ में श्रीलंका के खिलाफ किया था, जिसमें उन्होंने पहली पारी में 96 रन बनाए थे। यह मैच ऑस्ट्रेलिया ने एक पारी और 36 रन से जीता था।

अगर कप्तानी की बात की जाए तो रिकी पोंटिंग ऑस्ट्रेलिया के सबसे सफल कप्तान रहे हैं। पोंटिंग ने ऑस्ट्रेलिया के लिए 42 टेस्ट मैचों में टेस्ट कप्तानी की है। उन्हें आईसीसी प्लेयर ऑफ द ईयर 2006-07, आईसीसी टेस्ट प्लेयर ऑफ द ईयर 2003, 2004, 2006, 2002 में वन-डे इंटरनेशनल प्लेयर ऑफ द ईयर, एलन बॉर्डर मैडल 2004, 2006, 2007, 2009 में चुना गया। यही नहीं 2006 में उन्हें विस्डन क्रिकेटर ऑफ द ईयर का सम्मान भी मिला।

रिकी पोंटिंग के बारे में रोचक जानकारी

Enhanced by Zemanta
Loading...

 
आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: