Tue. Jan 21st, 2020

सूचना प्रविधि विधेयक लोकतन्त्र विपरीतः शेखर कोइराला

  • 3
    Shares

१२ जनवरी, काठमांडू । नेपाली काँग्रेस का नेता डा. शेखर कोइराला ने बताया कि सूचना प्रविधि विधेयक लोकतन्त्र तथा विधि के शासन का विश्वव्यापी सिद्धान्त और मान्यता विपरीत हुआ । रविवार नेता कोइराला द्वारा जारी विज्ञप्ति में उल्लेख है कि आमसंचार माध्यम और सामाजिक सञ्जाल नियमन करने के नाम में विधि का शासन विपरीत विधेयक लाया गया है ।
विज्ञप्ति में यह भी उल्लेख है कि संविधान द्वारा ग्यारेण्टी किया गया नागरिक का विचार अभिब्यक्ती स्वतन्त्रता तथा प्रेस स्वतन्त्रता कुण्ठित करने के उद्देश्य से यह विधेयक लाया गया है जिसे हम किसी भी हमलत में स्वीकर नहीं करेंगे ।
उनका मानना है कि सत्ता और शक्ति को लिखित, मौखिक वा सामाजिक संजाल में टिप्पणी करने वाले लेखक, पत्रकार, कार्टुनिष्ट, ब्यंग्यकार और सर्वसाधारण नागरिक को हिरासत में लेने का कानून लाना सर्वसत्तावाद का पूर्वाभ्यास हुआ है ।
उन्होंने कहा जन–आन्दोलन के नींव में स्थापित संघीय लोकतन्त्रिक गणतन्त्र कमजोर होने वाला कार्य अगर किसी होगा तो नेपाली कांग्रेस उसका प्रतिकार करेगा ।

Loading...

 
आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: