Wed. Feb 19th, 2020

दो जोड चप्पल खरीदने का औकात जिस नेता को नहीं था, वह आज करोड़ों का मालिक : सी.के. राउत

  • 6.2K
    Shares

मनोज बनैता, लाहान, १९ जनवरी । बलिदानी दिवस के अवसर पर सिरहा के लहान में शहीदों को ११:०० बजे माल्यार्पण करते हुवे जनमत पार्टीका अध्यक्ष डा. सिके राउत १२:०० बजे सिरहा नवराजपुर गा.पा के सोनबरसा चौक पर आमसभा (वीर शहिद रमेश महतो के गांवपालिका में) सम्बोधन किया है । आमसभा मे उपस्थित हजारौं मधेसी जनताको सम्बोधन करते हुवे डा. राउत ने सभी सहिदोंका नमन किया ।

शहीद रमेश महतो और प्रमोद सदा के पिताजी को जनमत पार्टी की तरफ से सम्मान कियागया है । डा. राउत समाजवादी और राजपा पर निशाना साधा और कहा कि सहिद परिवार मुहबोले मधेसी पार्टी राजपा और समाजवादी से खफा है । सहिद परिवार में वादा अनुसार रोजगारी नही देने, उनका ही सरकार होने के बाबजुद ५० लाख नहीं देने, उनके स्थानीय नेता द्वारा घरबार भी उजाड देने का आरोप शहीद परिवार द्वारा लगाया गया है ।

डा. राउत ने कहा कि आज वीर रमेश महतो की बलिदानी का १३ वर्ष हो गया, परंतु ८ बूदे सम्झौता का एक भी माँग पूरा नहीं हुआ। नेताओं ने साली, समधी, घरवाली, प्रेमिका को बारी-बारी सांसद्, मंत्री, प्रदेश प्रमुख बना दिये, २०६३ साल में दो जोड चप्पल खरीदने की औकत जिस नेता की नहीं थी, वह नेता आज सैकडौं करोड़ का मालिक बनकर उपप्रधानमंत्री बनते हुये विदेश के दौरे करते रहे, सांसद् का १-१ सीट २-२ करोड़ में बेचते रहे।

जहाँ शहीद ‘१ मधेश १ प्रदेश’ के नारा लगाते हुये बलिदानी दी थी, उस मधेश को इन्होंने ६ टुकडों में बाँट दिया। मधेशियों पर नरसंहार करनेवाला संविधान लागू करवा दिया। जो विद्रोह से जन्म लिया था, उस शक्ति को ही बाबुराम भट्टराई के चरण में आत्मसमर्पण कर आये। २-२ बूँदे सम्झौता करते ओली के साथ सत्ता रसास्वादन में लगे रहे।

और मधेशी शहिदों की आत्मा बिलखती रही, तड़पती रही, भटकती रही। इसलिए तो जनमत पार्टी को जन्म लेना पड़ा है। पापी कंश का संहार करते हुये, शासकों को पराजित करते हुये जनता राज लाने के लिए, और शहिदों के सपने साकार करने के लिए।

Loading...

 
आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: